राेहित तिवारी हत्याकांड : जांच के दायरे में पूरा परिवार, पत्नी पर शक गहराया

लखनऊः उत्‍तर प्रदेश और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री रहे स्वर्गीय नारायण दत्त तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी की मौत एक पहेली बनती जा रही है। शुरुआती जांच और पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से जो बात सामने आई है उसके आधार पर पुलिस को परिवार पर शक है। दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच की टीम डिफेंस कॉलोनी स्थित रोहित के घर पहुंची। इस मामले को शुक्रवार को दिल्ली पुलिस ने अपनी आपराधिक शाखा को सौंप दिया था, जिसके बाद से इस मामले की कार्यवाही तेज हो गई है।

घर वालों से हो रही है पूछताछ

दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच की टीम डिफेंस कॉलोनी स्थित रोहित के घर पहुंची है, जहां रोहित की मां उज्ज्वला तिवारी, पत्नी और उनके ससुर से पूछताछ हो रही है। टीम में पूछताछ के लिए महिला पुलिसकर्मी भी मौजूद हैं। घरवालाें के अलावा रोहित के भाई व नौकरों से भी सवाल किए जा रहे हैं। हालांकि शुक्रवार को भी पुलिस रोहित के घर पर जांच के लिए गई थी लेकिन उनकी मां और पत्नी के हरिद्वार में होने से उनसे पूछताछ नहीं हो सकी थी। बता दें कि शुक्रवार को रोहित की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ था कि उनकी मौत मुंह दबाने से हुई है, जिसके बाद हत्या का केस दर्ज कर लिया गया है।

पत्नी अपूर्वा से सख्ती से पूछताछ

जानकारी के मुताबिक,पुलिस को रोहित की पत्नी पर पहले से ही शक था।वहीं कत्ल के वक्त शेखर का भाई भी घर में मौजूद था। इसलिए दोनों से सख्ती से पूछताछ की जा रही है। शेखर की मां से उनके बेटे और अपूर्वा के रिश्ते को लेकर सवाल किए जा रहे है। अपूर्वा ने 15-16 अप्रैल की रात जिन जिन लोगों को फोन किया था। उसकी जांच की जा रही है। हत्या के वक्त घर के सभी लोग घर में मौजूद थे। इसलिए सभी शक के दायरे में है। वहीं, रोहित के ससुर ने क्राइम ब्रांच से अपनी बेटी को बेगुनाह बताया है। रोहित के ससुर ने कहा है कि उनकी बेटी ने कुछ गलत नहीं किया है और वो किसी की हत्या नहीं कर सकती है।

सीसीटीवी में कोई बाहरी व्यक्ति नहीं दिखा

पुलिस की जांच में एक कड़ी ये भी सामने आ रही है कि रोहित के घर में 7 सीसीटीवी कैमरे लगे हैं। जिनमें से 2 काम नहीं कर रहे थे। रोहित की मौत वाली रात सीसीटीवी में कोई भी बाहरी व्यक्ति घर के अंदर आता नहीं दिख रहा है। इसीलिए पुलिस के शक की सुई घर में मौजूद लोगों पर टिकी हुई है। इससे पहले क्राइम ब्रांच की टीम ने रोहित के घर में सीसीटीवी कैमरे के फुटेज को खंगाला। इसके अलावा रोहित जहां मृत पाए गए थे, उस मौका-ए-वारदात की भी छानबीन की गई।


क्या कहती है पोस्टमार्टम रिपोर्ट

रिपोर्ट के मुताबिक रोहित की मौत स्वाभाविक नहीं है। तकिये से मुंह दबाकर उसकी हत्या की गई है। गुरुवार को आई आठ पेज की पोस्टमार्टम रिपोर्ट से खुलासा हुआ है कि रोहित की मौत दम घुटने से हुई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में दिल का दौरा पड़ने से मौत का जिक्र नहीं है। उनकी मौत का समय 15-16 अप्रैल की दरम्यानी रात 1:30 बजे का है। जबकि रोहित को 16 अप्रैल की शाम करीब 5 बजे अस्पताल ले जाया गया। इसका मतलब ये है कि वो करीब 15 घंटे तक घर में ही मृत पड़े थे।

दिल्ली पुलिस ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। अब इस मामले की जांच क्राइम ब्रांच करेगी। केस दर्ज होने के तत्काल बाद क्राइम ब्रांच की टीम ने डिफेंस कॉलोनी स्थित रोहित के घर सी-329 में घटनास्थल का मुआयना किया। फोरेंसिक टीम (सीएफएसएल) ने घटनास्थल से कुछ सैंपल और फिंगर प्रिंट भी जुटाए हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सन्मार्ग एक्सक्लूसिव :आर्थिक पैकेज से हर वर्ग को राहत, न अन्न की कमी, न धन की : ठाकुर

 विशेष संवाददाता, कोलकाता : कोविड-19 संकट के आघात से देश और देश की अर्थव्यवस्था को उबारने के लिए केंद्र सरकार हरसंभव कोशिश कर रही है। आगे पढ़ें »

बैडमिंटन : मंत्रालय की गाइडलाइंस के बाद कोर्ट पर उतरे लक्ष्य

नयी दिल्‍ली : स्पोर्ट्स ऑथोरिटी ऑफ इंडिया (साई) की गाइडलाइंस के बाद बेंगलुरु में पादुकोण-द्रविड़ सेंटर ऑफ एक्सीलेंस अकादमी में बैडमिंटन खिलाड़ियों ने प्रैक्टिस शुरू आगे पढ़ें »

ऊपर