राम मंदिर भूमि पूजन पर गोखले की रोक याचिका को हाईकोर्ट ने किया खारिज

नयी दिल्ली : श्रीराम की नगरी अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए पांच अगस्त को होने वाले भूमि पूजन पर रोक लगाने की मांग को लेकर दाखिल याचिका इलाहाबाद हाईकोर्ट ने खारिज कर दी है। कोर्ट ने कहा कि याचिका सिर्फ आशंकाओं पर आधारित है इसमें कोई तथ्य नहीं है। साकेत गोखले की याचिका पर मुख्य न्यायाधीश गोविंद माथुर तथा न्यायमूर्ति एसडी सिंह की पीठ ने कहा है कि याचिका कल्पनाओं पर आधारित है। फिर भी कोर्ट ने आयोजकों व राज्य सरकार से अपेक्षा की है कि वे सोशल व शारीरिक दूरी बनाए रखने के दिशा-निर्देशों के अनुसार कार्यक्रम करेंगे।कोर्ट ने कहा है कि कार्यक्रम में सामाजिक दूरी का पालन न करने की आशंका का कोई आधार नहीं है और याचिका खारिज कर दी है।
ये कहा गया था याचिका में
साकेत गोखले की ओर से भेजी गई लेटर पीआईएल में कहा गया है कि राम मंदिर निर्माण के लिए होने वाला भूमि पूजन कोविड-19 के अनलॉक-2 की गाइडलाइन का उल्लंघन है। भूमि पूजन में लगभग 300 लोग इकट्ठा होंगे, जो कोविड-19 के नियमों के विपरीत होगा। इसमें कहा गया था कि भूमि पूजन का कार्यक्रम होने से कोरोना के संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ेगा।  उत्तर प्रदेश सरकार केंद्र की गाइडलाइन में छूट नहीं दे सकती।

शेयर करें

मुख्य समाचार

लंबा नहीं चलेगा जसप्रीत बुमराह का करियर : शोएब अख्तर

इस्‍लामाबाद : पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर का कहना है कि जसप्रीत बुमराह प्रतिभावान गेंदबाज हैं, लेकिन अपने मुश्किल गेंदबाजी एक्शन के कारण आगे पढ़ें »

वीवो के हटने से बीसीसीआई पर कोई वित्तीय संकट नहीं : गांगुली

नयी दिल्ली : भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) अध्यक्ष सौरव गांगुली ने चीनी मोबाइल कंपनी वीवो के साथ इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) टाइटल प्रायोजन करार के आगे पढ़ें »

ऊपर