राजनीति के चाणक्य आएंगे बंगाल, मैदान में उतारेंगे नेताओं की फौज

– गृहमंत्री अमित शाह बढ़ाएंगे मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की मुश्किलें

कोलकाता : अगले साल होने वाले पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव से पहले केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह प्रदेश में दो दिन का दौरा करेंगे। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के चुनाव प्रचार अभियान को रफ्तार देने के लिए शाह शुक्रवार रात को कोलकाता पहुंचेंगे। यहां वह रैली और रोड शो करेंगे। सूत्रों के मुताबिक, शाह की मौजूदगी में पूर्व टीएमसी नेता शुभेंदु अधिकारी भाजपा का दामन थामेंगे। बता दें कि भाजपा ने प्रदेश में ममता बनर्जी सरकार को सत्ता से हटाने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगा दिया है। दूसरी ओर, टीएमसी में कई नेताओं के बगावत के बाद शाह का बंगाल पहुंचना मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की मुश्किलों को बढ़ाने का संकेत है।

मिशन बंगाल की तैयारियां तेज

दो दिन के बंगाल दौरे के बीच शाह यहां जनसंपर्क भी करेंगे। शाह 19 दिसंबर को पार्टी के सभी नेताओं के साथ एक बैठक करेंगे और आगे की रणनीति पर चर्चा करेंगे। वह राज्य के किसानों से मुलाकात करेंगे। शनिवार दोपहर को एक रैली को संबोधित करने के बाद अमित शाह मिदनापुर में एक किसान के घर पर खाना खाएंगे। सूत्रों के मुताबिक, ममता बनर्जी के करीबी और पूर्व टीएमसी नेता शुभेंदु अधिकारी को भाजपा में शामिल करने को लेकर खास आयोजन किया जाएगा।

बताया जा रहा है कि यह आयोजन मिदनापुर में ही किया जाएगा जिसे शुभेंदु का गृह इलाका माना जाता है। इसके बाद रविवार को अमित शाह बीरभूम में रोड शो करेंगे और फिर विश्वभारती विश्वविद्यालय का भी दौरा करेंगे। यह यूनिवर्सिटी रवींद्र नाथ टैगोर ने साल 1921 में बनवाई थी। सूत्रों के मुताबिक, अमित शाह प्रदेश के मंदिरों में दर्शन के लिए भी जा सकते हैं। साथ ही वह स्थानीय लोगों के साथ मुलाकात के अलावा उनके साथ भोजन भी कर सकते हैं।

इन चेहरों को बंगाल में उतारा

भाजपा ने अपने अभियान में युद्ध स्तर पर तेजी लाते हुए केंद्रीय मंत्रियों, एक उप-मुख्यमंत्री और कई केंद्रीय नेताओं को विभिन्न मोर्चों पर तैनात किया है और उन्हें छह से सात संसदीय क्षेत्रों की जिम्मेदारी सौंपी है। पार्टी सूत्रों के मुताबिक, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह इस हफ्ते के अंत में राज्य का दौरा करेंगे। वहीं केंद्रीय मंत्रिपरिषद के उनके सहयोगी गजेंद्र सिंह शेखावत, संजीव बालियान, प्रह्लाद पटेल, अर्जुन मुंडा और मनसुख भाई मांडविया अगले कुछ दिनों के भीतर प्रदेश का दौरा करेंगे। वहीं, उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या और मध्य प्रदेश सरकार में वरिष्ठ मंत्री नरोत्तम मिश्रा को भी पश्चिम बंगाल में जिम्मेदारी सौंपी गई है। केंद्रीय मंत्री पटेल ने भी स्पष्ट किया कि उन्हें उत्तर बंगाल में पार्टी की चुनावी तैयारियों का जिम्मा सौंपा गया है।

बंगाल में भाजपा का कितना दबदबा

पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनाव में भाजपा अभी तक कोई खास प्रभाव नहीं छोड़ पाई है लेकिन 2019 के लोकसभा चुनाव में राज्य की 18 सीटों पर मिली जीत से उसके हौसले बुलंद हैं और वह तृणमूल कांग्रेस के मुख्य प्रतिद्वंद्वी के रूप में उभर कर सामने आई है। पार्टी के नेता लगातार दावा करते आ रहे हैं कि इस बार के विधानसभा चुनाव में भाजपा, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली तृणमूल सरकार को उखाड़ सत्ता से बाहर फेंक देगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

पहले सीएम ने लगायी फटकार, फिर किया दुलार

पुरुलिया : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने जिले के हुटमुड़ा मैदान में एक विशाल जनसभा को संबोधित किया। उनके संबोधन के दौरान मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का आगे पढ़ें »

धुपगुड़ी में दर्दनाक हादसा : डम्पर के नीचे दबकर 14 लोगों की मौत

सन्मार्ग संवाददाता, धुपगुड़ी/कोलकाता : मंगलवार की रात धुपगुड़ी में हुए दर्दनाक हादसे में कम से कम 14 लोगों की मौत हो गयी। पत्थर ढोने वाले आगे पढ़ें »

ऊपर