मोदी ने अडानी-अंबानी का काला धन सफेद करने के लिये 2000 के गुलाबी नोट चलाये : राहुल

वालोद : लोकसभा चुनाव को लेकर जहां राजनेताओं की जुबानी जंग जारी है वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपनी चुनावी जनसभाओं और रैलियों में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर आरोप लगाने से नहीं चूक रहे हैं। उन्होंने शुक्रवार को कहा कि मोदी ने अंबानी और अडानी का काला धन सफेद करने के लिए 500 और 1000 के नोट रद्द कर 2000 के गुलाबी नोट चला दिये।
मैंने भी किसानों का चौकीदार बनने का मन बना लिया
गुजरात के तापी जिले और बारडोली लोकसभा क्षेत्र के वालोद के वाजीपुरा में एक चुनावी सभा के दौरान गांधी ने कहा कि मोदी केवल अडानी-अंबानी जैसे उद्योगपतियों के चौकीदार हैं और अब मैंने भी किसानों का चौकीदार बनने का मन बना लिया है। उन्होंने कहा कि वे मोदी को चुनौती देते हैं कि अनिल अंबानी को लेकर आये और उनसे मुकाबला करें। उन्हें दो मिनट में देश के किसानों की ताकत का अंदाजा हो जायेगा।
500 और 1000 के नोट रद्द कर 2000 के गुलाबी नोट चला दिया
गांधी ने आरोप लगाया कि नोटबंदी के दौरान मोदी ने अंबानी और अडानी जैसे अपने उद्योपगति मित्रों का काला धन सफेद करने के लिए ही 500 और 1000 के नोट रद्द कर 2000 के गुलाबी नोट चला दिया। उन्होंने लोगों से तकलीफ सहने की बात कही और उनके पास से छोटे-छोटे पैसे छीन लिये, ईमानदार लोगों को बैंकों के सामने लाइन में लगा दिया और छोटे नोट बंद कर 2000 का बड़ा गुलाबी नोट इसलिए चला दिया कि अंबानी और अडानी इसके जरिये अपना काला धन आसानी से बदल सकें। इस काम में उन्हें कोई तकलीफ न हो।
नरेन्द्र मोदी ने तीन बड़े वायदे किये थे
उन्होंने कहा कि नरेन्द्र मोदी ने तीन बड़े वायदे – दो करोड़ युवाओं को हर साल रोजगार देने, सबके खाते में 15 लाख रूपये डालने और किसानों को फसल की बेहतर कीमत दिलाने के बारे में किये थे। गांधी ने कहा कि भले ही 15 लाख रूपये वाला वादा झूठा था पर उन्होंने कांग्रेस के अर्थशास्त्रियों और थिंक टैंक से पूछा था कि कितना पैसा देश के सबसे गरीब पांच करोड़ परिवारों को दिया जा सकता है तो उन्होंने यह रकम 72000 बतायी।
किसानों को कर्ज के चलते जेल नहीं जाना पड़ेगा
गांधी ने दोहराया कि न्याय योजना तथा किसानों की कर्ज माफी के लिए पैसे की उपलब्धता का सवाल खड़ा करने वाले प्रधानमंत्री मोदी की सरकार ने 10 से 15 बड़े उद्योगपतियों का साढे़ तीन लाख करोड़ का कर्ज माफ कर दिया पर किसानों का ऋण माफ नहीं किया। उन्होंंने कहा कि एक तरफ अनिल अंबानी, नीरव मोदी, मेहुल चौकसी और विजय माल्या जैसे अरबपति बैंकों का बड़ा कर्ज पचा जाने के बावजूद जेल में नहीं है और लंदन में आनंद उठा रहे हैं तो दूसरी तरफ 20 हजार रूपये जैसी छोटी रकमों के लिए किसानों को जेल में डाला जा रहा है। यह गलत है, या तो मोदी पहले अनिल अंबानी को भी जेल में डाले या किसी को नहीं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार बनने पर किसानों को कर्ज के चलते जेल नहीं जाना पड़ेगा।
कांग्रेस दो भारत नहीं बनने देगी
उन्होंने आरोप लगाया कि खुद को चौकीदार कहने वाले मोदी असल में अंबानी और अडानी जैसे उद्योगपतियों के चौकीदार हैं जिन्हे वह सारे संसाधन दे रहे हैं। वह दो तरह का भारत बनाना चाहते हैं। एक 15 से 20 सबसे अमीरों के लिए आसानी से उपलब्ध सभी सुविधाओं वाला और दूसरा जिसमें आम आदमी के लिए बच्चों की पढ़ाई और इलाज भी बेहद महंगे हों। कांग्रेस दो भारत नहीं बनने देगी।
22 लाख सरकारी नौकरियां हैं वह हम देंगे
कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि वह मोदी की तरह झूठे वायदे नहीं करेंगे। उन्होंने कहा, ‘मै झूठ नहीं बोलूंगा कि 15 लाख रूपये खाते में डालूंगा। अगर उतना डाला तो अर्थव्यवस्था नष्ट हो जायेगी पर उतना जरूर डालूंगा जिससे ऐसा नहीं हो। मै दो करोड़ रोजगार की बात नहीं करूंगा पर 22 लाख सरकारी नौकरियां हैं वह हम देंगे। पंचायतों में दस लाख रोजगार दिये जा सकते हैं। किसानों की मदद हो सकती है कर्ज माफ किया जा सकता है। सरकार जीएसटी को भी सरल बना देगी।’

बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि देश के पांच करोड़ सबसे गरीब परिवारों को सालाना 72 हजार रूपये देने की उनकी पार्टी की न्याय योजना गरीबी पर एक सर्जिकल स्ट्राइक है। इसको चुनाव जीतने पर तुरंत लागू किया जायेगा। इसके जरिये गरीबी को समाप्त कर दिया जायेगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बेकाबू होता जा रहा है डेंगू, और 2 की मौत

अब तक 19 मरे, साढ़े 11 हजार लोग पीड़ित सन्मार्ग संवादाता कोलकाता : डेंगू का कहर दिन ब दिन बेकाबू होता जा रहा है। रविवार को डेंगू आगे पढ़ें »

mamata banerjee

आज केन्द्र सरकार के प्रतिष्ठानों के कर्मियों को सम्बोधित करेंगी ममता

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी आज सोमवार को नेताजी इंडोर स्टेडियम में केंद्र सरकार के प्रतिष्ठानों के कर्मचारियों के प्रतिनिधियों को सम्बोधित करेंगी। इन आगे पढ़ें »

ऊपर