मेट्रो परियोजना की प्रशंसा के खिलाफ बच्चन के घर के बाहर प्रदर्शन

कहा-आइये, आपको आरे ले चलें, जिससे आपका नजरिया बदल जायेगा
मुंबई : आरे कॉलोनी में 2,600 से अधिक पेड़ों को गिराये जाने के प्रस्ताव का विरोध कर रहे कार्यकर्ताओं ने मुंबई मेट्रो परियोजना के समर्थन में फिल्म अभिनेता अमिताभ बच्चन के ट्वीट को लेकर जुहू में उनके आवास के बाहर बुधवार को प्रदर्शन किया। उन्होंने ‘आरे को बचाओ’ और ‘बगीचों से जंगल नहीं बनते’ के बैनर और पोस्टर पकड़ रखे थे। बच्चन ने मंगलवार को ट्वीट किया था, ‘मेरे एक मित्र को आपात चिकित्सकीय मदद की आवश्यकता थी, उसने अपनी कार के बजाए मेट्रो से जाने का फैसला किया। वह बहुत प्रभावित होकर लौटा। उसने कहा कि यह अधिक तेज, सुविधानजनक और सबसे दक्ष है। प्रदूषण के लिए समाधान। और पेड़ लगाएं। मैंने अपने बगीचे में पेड़ लगाए थे। क्या आपने लगाए?’ मुंबई मेट्रो रेल कॉरपोरेशन लि. के प्रबंध निदेशक अश्विनी भिड़े ने मेट्रो परियोजना की प्रशंसा करने के लिए बच्चन की सराहा। वहीं, पेड़ गिराने को लेकर नगर निकाय की मंजूरी के खिलाफ बंबई हाईकोर्ट में याचिका दायर करने वाले पर्यावरण कार्यकर्ता जोरु भाठेना का कहना है कि ‘प्रिय एमएमआरडीए अधिकारी, मैंने सुना है कि आप अपनी विभिन्न मेट्रो परियोजनाओं के लिए कास्टिंग यार्ड के निर्माण के लिए भूखंड देख रहे हैं। क्या बच्चन जी का बगीचा पर्याप्त होगा?और मुझे भरोसा है कि उन्हें भी ऐसा करने में खुशी होगी।’ उन्होंने एक अन्य ट्वीट किया,‘प्रिय बच्चन जी। मैं आपसे अपने बगीचे की रक्षा करना छोड़कर आपका इंतजार कर रहे हमारे दोस्तों के साथ जुड़ने का अनुरोध करता हूं। श्रीमान, आइए आपको आरे ले चलें, जिससे आपका नजरिया बदल जायेगा।’ आरे कॉलोनी महानगर का बड़ा हरित क्षेत्र है। युवा सेना प्रमुख आदित्य ठाकरे इलाके में पेड़ गिराने के प्रस्ताव के खिलाफ हैं। पर्यावरणविद् और कार्यकर्ता मेट्रो कार शेड परियोजना का विरोध कर रहे हैं। उधर, बॉलीवुड की कई हस्तियों व नेताओं ने भी इन कार्यकर्ताओं को अपना समर्थन दिया है। उधर, आरे मामले पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने रविवार को कहा कि यह सरकारी भूमि है और वन क्षेत्र में नहीं आती।

शेयर करें

मुख्य समाचार

hongkong

हांगकांग ‘लोकतंत्र अधिनियम’ पारित, चीन ने दी कड़ी प्रतिक्रिया

वाशिंगटन : हांगकांग में लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनकारियों की मांग वाले एक विधेयक को अमेरिकी प्रतिनिधि सभा ने मंगलवार को पारित कर दिया, जिसका उद्देश्य उस आगे पढ़ें »

रतन टाटा खुद को मानते हैं ‘एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक’, कई बड़ी कंपनियों में है हिस्सेदारी

नई दिल्ली : उद्योगपति और टाटा समूह के चेयरमैन रतन टाटा ने खुद को 'एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक' माना है। उन्होंने दर्जनभर से ज्यादा स्टार्टअप कंपनियों आगे पढ़ें »

court

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने 40 दिन की सुनवाई के बाद फैसला सुरक्षित रखा

ayodhya

अयोध्या मामला : मुस्लिम धर्मगुरुओं ने कहा, शीर्ष न्यायालय के फैसले को स्वीकार किया जाना चाहिए

अमेरिकी प्रतिबंधों के पालन के लिए भारत अपना नुकसान नहीं करेगा: वित्त मंत्री

russia

तुर्की और सीरिया की लड़ाई में रूस बना दीवार, तैनात की अपनी आर्मी

sitaraman

अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद ‘मानवाधिकार’ विश्व स्तर पर ज्वलंत शब्द बन गया : सीतारमण

chetak

बजाज ने पेश किया इलेक्ट्रिक चेतक स्कूटर, सामने आया पहला लुक

rail

रेलवे ने शुरू की नई योजना, अब फिल्म प्रमोशन के लिए हो सकेगी ट्रेनों की बुकिंग

modi

पीएम मोदी बोले- राष्ट्र निर्माण का आधार है सावरकर के संस्कार

ऊपर