मु‌स्‍लिम कैदी के पीठ पर गर्म लोहे की छड़ से लिखवाया ‘ॐ’, कोर्ट में हुआ खुलासा

नई दिल्ली : दिल्ली के तिहाड़ जेल से एक ऐसी शर्मनाक घटना सामने आई है जिसे जानकर आप हैरान रह जाएंगे। जेल में एक मुस्लिम कैदी के पीठ पर जबरन गर्म लोहे की छड़ से ओम लिखने का जघन्य अपराध सामने आया है। यह जानकर हैरानी होगी की यह अमानवीय कृत्य करने वाला कोई और नहीं बल्कि जेल का सुपरिटेंडेंट राजेश चौहान था। पीड़ित कैदी नब्बीर उर्फ पोपा ने कड़कड़डूमा कोर्ट में पेशी के दौरान इसकी शिकायत की थी।

नब्बीर ने जेल सुपरिटेंडेंट पर आरोप लगाते हुए कहा उसकी पीठ पर जबरन गर्म लोहे की छड़ से ‘ओम’ लिखवाया गया और तरह-तरह की प्रताड़नाएं दी गई, सिर्फ इसलिए क्योंकि वह मुस्लिम है। इस घटना के बाद पीड़ित को एक दूसरी जेल में शिफ्ट कर दिया गया है और मामले की जांच की जा रही है।
वहीं, तिहाड़ जेल के डायरेक्टर जनरल ने बताया, ‘डीआईजी मामले की जांच कर रहे हैं। विस्तृति जांच रिपोर्ट को कोर्ट में पेश किया जाएगा।’

आरोपी की कोर्ट में पेशी के दौरान मामला सामने आया

बता दें कि मामला तब सामने आया जब आरोपी नब्बीर उर्फ पोपा को शुक्रवार को कड़कड़डूमा कोर्ट में पेश किया गया। नब्बीर अवैध हथियार तस्करी के आरोप में जेल की सजा काट रहा था। नब्बीर ने कोर्ट के सामने अपने यातनाओं की दास्तां बयां की। उसने ड्यूटी मैजिस्ट्रेट रिचा पाराशर के सामने अपनी शर्ट उताकर उन्हें अपनी पीठ पर गर्म घातू से लिखे गए निशान को दिखाया।
नब्बीर ने तिहाड़ जेल के अधिकारियों पर बुरी तरह से पीटने का भी आरोप लगाया। इतना ही नहीं शबीर की पीठ पर सिगरेट से जलाने के निशान भी पाए गए। उसने यह भी आरोप लगाया कि उसे दो दिनों तक जेल में भूखा रखा गया है। कैदी के खुलासे के बाद कोर्ट ने तिहाड़ जेल प्रशासन को मामले की गंभीरता से जांच करने और 24 घंटे के भीतर रिपोर्ट पेश करने का आदेश दिया है।

कोर्ट ने जेल प्रशासन से 24 घंटे के अंदर मांगी रिपोर्ट

इस मामले के प्रकाश में आने के बाद कोर्ट ने अपने आदेश में कहा, ‘आरोपी (कैदी) द्वारा लगाए गए आरोप गंभीर प्रकृति के हैं और इसमें तत्काल दखल की जरूरत है। इसके मद्देनजर, डीजीपी प्रिजन को नोटिस जारी किया जाता है। आरोपी नब्बीर का मेडिकल एग्जामिनेशन तत्काल प्रभाव से कराया जाए।’

हथियार तस्करी केे आरोप में जेल की सजा काट रहा था नब्बीर

बता दें कि पीड़ित नब्बीर दिल्ली के न्यू सीलमपुर का रहने वाला है। वह कथित रूप से अवैध हथियार तस्करी के आरोप में जेल में बंद था। उसे दिल्ली के तिहाड़ जेल के नंबर 4 के हाई-रिस्क वॉर्ड में रखा गया था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अभी नहीं चलेंगी निजी बसें

कोलकाता : 1 जून से लॉकडाउन खुलने की शुरुआत हो जाएगी और 8 से काफी हद तक राहत मिल जाएगी, लेकिन बंगाल के लोगों के आगे पढ़ें »

तकनीक ने बदल दिया बीएफएसआई सेक्टर की भूमिका

नई दिल्ली : लंबे समय से भारत औपचारिक अर्थव्यवस्था के दायरे का विस्तार करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहा है। तकनीक के प्रवाह ने आगे पढ़ें »

ऊपर