मास्क नहीं पहनने वालों को करनी पड़ेगी कोविड सेंटर में ड्यूटी

अहमदाबाद : देश में लॉकडाउन खत्म होने के बाद त्योहारी सीजन शुरू होते ही कोरोना के प्रति लोगों की लापरवाहियां बढ़ गई। लोगों ने कोरोना महामारी को हल्के में लेना शुरू कर दिया और कोरोना को फिर से आतंक फैलाने का मौका मिल गया। आलम यह है कि देश के कई प्रदेशों में कोरोना के मामले एक बार फिर से तेजी से बढ़ने लगे हैं। प्रशासन को कई सख्त कदम उठाने पड़ रहे हैं।

कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले देखते हुए गुजरात हाई कोर्ट ने राज्य सरकार को अहम निर्देश दिए हैं। हाई कोर्ट ने सरकार से कहा कि जो लोग मास्क नहीं पहनते हैं उनसे जुर्माना वसूलें और अगर तब भी नहीं सुधरते हैं तो उन्हें कोविड सेंटर में सेवा के लिए भेजा जाए। गौरतलब है कि, सरकार लगातार अपील कर रही है कि जब तक कोरोना की वैक्सीन नहीं आती है तब तक मास्क ही बचाव का रास्ता है। लेकिन बहुत से ऐसे लोग हैं जिनपर इसका कोई असर नहीं होता और बिना मास्क के पकड़े जाते हैं।

कोविड कम्युनिटी सेंटर में 10-15 दिनों तक काम

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को ध्यान में रखते हुए गुजरात हाई कोर्ट ने सख्ती दिखाई है। अदालत ने कहा कि जो बिना मास्क के घूमता है उसे कोविड कम्युनिटी सेंटर में नॉन मेडिकल विभाग में 10-15 दिनों तक काम करने की जिम्मेदारी दी जाए। हाई कोर्ट ने तंज कसते हुए कहा कि अगर लोगों को कोविड कम्युनिटी सर्विस सेंटर में सेवा के लिए भेजेंगे तो वे सतर्क होकर दिनभर मास्क पहनेंगे। अदालत ने राज्य सरकार को कोरोना की स्थिति को लेकर जवाब देने का आदेश दिया।

दरअसल, गुजरात हाई कोर्ट में मास्क पर एक याचिका दायर की गई थी। याचिकाकार्ता ने कहा था कि लोग मास्क नहीं पहनते हैं, जिससे अहमदाबाद, राजकोट, सूरत, वडोदरा में जुर्माने की रकम बढ़ाकर 2000 की जाए। राज्य के अन्य शहरों में जुर्माने की रकम 1000 रखी जाए। इसके अलावा जो लोग मास्क नहीं पहनते उन्हें कोविड कम्युनिटी सर्विस सेंटर में नॉन मेडिकल विभाग में काम करने के लिए भेजा जाए।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ममता बनर्जी पर तंज – बंगाल के लोग अब चप्पल नहीं जूते पहनना चाहते हैं

कोलकाता : बंगाल के भाजपा प्रमुख दिलीप घोष ने तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी पर तंज कसते हुए कहा कि राज्य के लोग हवाई चप्पल नहीं आगे पढ़ें »

गणतंत्र दिवस : राजभवन में ‘चाय पर मुलाकात’ कार्यक्रम, ममता बनर्जी भी पहुंची

कोलकाता : गणतंत्र दिवस के मौके पर पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ की ओर से राजभवन में 'चाय पर मुलाकात’ कार्यक्रम का आयोजन किया गया। आगे पढ़ें »

ऊपर