मादक पदार्थों की अवैध बिक्री का अभियुक्त अनूप बिनीश कोडियेरी का बेनामीदार : ईडी

बिनीश अनूप के खाते में नियमित रूप से बेहिसाब बड़ी धनराशि भेजा करते थे
बेंगलुरु/ नयी दिल्ली : केरल में माकपा नेता कोडियेरी बालकृष्णन के बेटे बिनीश कोडियेरी को गिरफ्तार करने के एक दिन बाद प्रवर्तन निदेशालय ने शुक्रवार को कहा कि बिनीश ने नशीले पदार्थ बेचने वाले व्यक्ति के बैंक खाते में ‘बेहिसाब राशि’ भेजी है। ईडी ने आरोप लगाया है कि मादक पदार्थों की अवैध बिक्री का अभियुक्त मोहम्मद अनूप बिनीश का ‘बेनामीदार’ था। बेनामीदार वह व्यक्ति होता है, जिसके नाम पर बेनामी संपत्ति ली जाती है या जिसके नाम हस्तांतरित की जाती है और लाभ पाने वाला वह व्यक्ति होता है, जिसके लाभ के लिए बेनामीदार ने संपत्ति रखी हो। ईडी ने बिनीश को बेंगलुरु में धनशोधन रोधी कानून के तहत गुरुवार को गिरफ्तार किया था। इसके बाद एक स्थानीय अदालत ने उन्हें 2 नवंबर तक प्रवर्तन निदेशालय की हिरासत में भेज दिया। अनूप को इस मामले में 17 अक्टूबर को गिरफ्तार किया गया था। स्वापक नियंत्रण ब्यूरो (एनसीबी) की जांच में यह दावा किया गया था कि उसने अनूप और दो अन्य की गिरफ्तारी के साथ ही अगस्त में कर्नाटक में नशीले पदार्थों की तस्करी के रैकेट का पर्दाफाश किया। ईडी की जांच इसी मामले से जुड़ी है।
ईडी ने कहा कि अनूप ने हिरासत में पूछताछ के दौरान स्वीकार किया कि वह मादक द्रव्यों की बिक्री और खरीदारी में शामिल था और उसका बिनीश से निकट संबंध था। अनूप के विभिन्न बैंक खाते हैं और उसने इन खातों में अपराध से मिलने वाली बड़ी रकम हस्तांतरित की। धन के लेन-देन संबंधी जांच से यह भी पता चला कि बिनीश अनूप के खाते में नियमित रूप से बेहिसाब बड़ी धनराशि भेजा करते थे। अनूप बिनीश का बेनामीदार है और वह बिनीश के निर्देश पर ही सभी वित्तीय लेद-देन करता है। बिनीश अनूप को बड़ी रकम का भुगतान करते हैं। बिनीश इस नकदी और वित्तीय लेन-देन के बारे में उचित स्पष्टीकरण नहीं दे सके और इसका जवाब टालते रहे। बिनीश का कहना है कि वह अनूप और उसके परिवार को जानते हैं और अनूप के परिवार ने कुछ साल पहले कर्नाटक में रेस्तरां के कारोबार के लिए उनसे और कुछ अन्य लोगों से धन उधार लिया था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

टीएमसी को बड़ा झटका, परिवहन मंत्री शुभेंदु अधिकारी ने दिया इस्तीफा

कोलकाता : पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव अगले साल होने वाले हैं। इससे पहले सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) को एक बड़ा झटका लगा है। पार्टी आगे पढ़ें »

पूर्णिमा पर साल का आखिरी चंद्र ग्रहण, जानें क्या होगा असर?

नई दिल्ली : साल का आखिरी चंद्र ग्रहण 30 नवंबर को है। खास बात ये है कि ये चंद्र ग्रहण इस बार कार्तिक पूर्णिमा के आगे पढ़ें »

ऊपर