भीमा कोरेगांव पर आया डीजीपी का बयान, बोले- बड़ी योजना बना रहे थे माओवादी, हमारे पास हैं सबूत

Fallback Image

नई दिल्लीः भीमा कोरेगांव मामले में एक्टिविस्ट के पकड़े जाने को लेकर महाराष्ट्र पुलिस ने नया खुलासा किया और कहा है कि पकड़े गए लोगों को लेकर उनके पास पर्याप्त सबूत है। ये बड़ी योजना बना रहे थे। इस दौरान पुलिस ने इन्हें दबोचा। महाराष्ट्र के एडीजी (कानून और व्यवस्था) परमवीर सिंह ने कहा कि माओवादियों के खिलाफ कार्रवाई सबूतों के आधार पर की गई है। यही नहीं छापे के दौरान कई महत्वपूर्ण सबूत मिले हैं। पुलिस ने आरोप लगाया कि माओवादियों की साजिश कानून-व्यवस्था को बिगाड़कर सरकार गिराने की थी। एक आतंकवादी संगठन भी इस साजिश में माओवादियों के साथ शामिल था।

बड़ी साजिश को अंजाम देने के फिराक में थे
महाराष्ट्र पुलिस के अतिरिक्त महानिदेशक (कानून व्यवस्था) परमवीर सिंह ने कहा रोना विल्सन और भाकपा माओवादी के एक नेता के बीच एक ई-मेल पत्र में राजीव गांधी जैसी घटना के जरिए ‘मोदी राज’ खत्म करने के बारे में कहा गया है। मानवाधिकार कार्यकर्ता रोना जैकब विल्सन को इस साल जनवरी में महाराष्ट्र के कोरेगांव-भीमा गांव में हुई हिंसा के संबंध में जून में दिल्ली से गिरफ्तार किया गया था। उन्होंने कहा कि गिरफ्तार कार्यकर्ताओं के बीच आदान-प्रदान हुए कुछ पत्रों में “कुछ बड़ा कदम” उठाने की योजना बनाने के बारे में भी कहा गया है, ताकि लोगों का ध्यान खींचा जा सके। सिंह ने बताया कि दिल्ली यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर जी एन साईबाबा को भी इसी तरह के सबूतों के आधार पर 2014 में गिरफ्तार किया गया था। उन्होंने कहा क‌ि

ग्रेनेड लॉन्चर खरीदने का भी जिक्र
उन्होंने कहा कि पत्र में ग्रेनेड लांचर खरीदने के लिए आठ करोड़ रुपये की जरूरत पड़ने का भी जिक्र है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने माओवादियों के भूमिगत कार्यकर्ताओं और अन्य कार्यकर्ताओं के बीच आदान-प्रदान हुए हजारों पत्र जब्त किए हैं। सिंह ने बताया, “रोना द्वारा माओवादी नेता “कॉमरेड प्रकाश” को लिखे पत्र में कहा गया है: हमें यहां की वर्तमान स्थिति के संबंध में आपका आखिरी खत मिल गया है। अरुण (फरेरा) , वेर्नन (गोन्जाल्विस) और अन्य शहरों में चल रही मुहिम को लेकर समान रूप से चिंतित हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

किडनी की समस्या का आयुर्वेद में है इलाज, पढ़ें

नई दिल्ली : किडनी शरीर का महत्वपूर्ण अंग है और फिल्टर माना जाता हैं, यह हमारे शरीर में मौजूद टॉक्सिन को बाहर निकालने का काम आगे पढ़ें »

germany

जर्मनी के पूर्व राष्ट्रपति के बेटे की चाकू से की हत्या

बर्लिन : जर्मनी के पूर्व राष्ट्रपति रिचर्ड फोन के बेटे की चाकू घोंपकर हत्या कर दी गयी। बर्लिन शहर में एक अस्पताल में घुसकर हमलावर आगे पढ़ें »

ऊपर