मां के इलाज के लिए मदद के नाम पर 11 साल की बच्ची की वर्जिनिटी का सौदा

नागपुर : मां के कैंसर के इलाज के लिए कुछ पैसे जुटाने को कोई बच्ची कितनी बेबस हो सकती है। इस बात का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि उसे 5000 रुपये में अपनी वर्जिनिटी बेचने का लालच दिया जाए। मजबूरी का आलम यह कि लड़की का 40 हजार रुपये में एक ग्राहक के साथ सौदा भी कर दिया जाता है। लड़की की किस्मत अच्छी थी कि वह जिस्मफरोशी के दलदल में गिरने से पहले ही बचा ली गई। पुलिस ने गुरुवार को कोराडी एक अपार्टमेंट से उसे बचा लिया।

ग्राहक ही बन गया पुलिस का मुखबिर
पुलिस ने इस मामले में तीन महिलाओं को गिरफ्तार किया है। इन महिलाओं ने ही गरीब लड़की को आर्थिक मदद का वादा किया था। लड़की इस वजह से बच गई कि उसके लिए जो ग्राहक खोजा गया था वह पुलिस का मुखबिर निकला। उसने खुद पुलिस को पूरी घटना की जानकारी दी। इसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंच कर मासूम लड़की को बचा लिया।
मां के इलाज के लिए पैसे की जरूरत थी
सूत्रों ने बताया कि नाबालिग की मां कैंसर से पीड़ित है। परिवार को उसके इलाज के लिए तुरंत पैसे की जरूरत थी। हालांकि, पुलिस की तरफ से अभी भी इस बात की पुष्टि की जानी बाकी है। हालांकि, यह जानकारी एक आरोपी ने ही पुलिस को दी है। सूत्रों ने यह भी कहा कि आरोपी ने नाबालिग को अपने साथ जाने और अपनी बोली लगाने के लिए राजी किया। साथ ही उसे 5,000 रुपये देने का भी वादा किया था।

आरोपी महिला और लड़की की मां एक दूसरे को जानती थीं
छापेमारी के दौरान क्राइम ब्रांच की सामाजिक सेवा शाखा (एसएसबी) ने अर्चना वैशम्पायन (39), रंजना मेश्राम (45) और कविता निखरे (30) को गिरफ्तार किया। पुलिस ने बताया कि अर्चना और नाबालिग की मां एक-दूसरे को जानती थीं। अर्चना ने कहा कि नाबालिग की मां ने स्वेच्छा से 11 वर्षीय बच्ची को भेजने को तैयार हुई थी।
बेटे के जन्मदिन के बहाने लाई थी
अर्चना अपने बेटे के जन्मदिन समारोह के दौरान उसकी देखभाल करने के बहाने नाबालिग को अपने साथ कोराडी के ओम नगर स्थित एक अपार्टमेंट में ले आई थी। अपार्टमेंट को रंजना मेश्राम ने किराए पर लिया था। यहां कविता निखरे को लड़की के जिस्म का सौदा करने के लिए ग्राहक लाने की जिम्मेदारी दी गई थी। पुलिस कमिश्नर अमितेश कुमार ने कहा कि एक नाबालिग के शोषण के लिए तैयार होने के बारे में गोपनीय जानकारी थी। इसके बाद पुलिस उसे बचाने के लिए हरकत में आई।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

कार्तिक मास का पहला शनिवार कब है? जानें इस दिन की तिथि ..

कोलकाता : कार्तिक मास का आरंभ हो चुका है। हिंदू कैंलेडर के अनुसार 21 अक्टूबर 2021, गुरुवार से कार्तिक मास आरंभ हो चुका है धर्म-कर्म आगे पढ़ें »

ऊपर