मरकज से 20 राज्यों में फैल गया कोरोना!

नयी दिल्ली : दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित मरकज में तब्लीगी आयोजन कोरोना वायरस के खिलाफ देश के अ​िभयान को बड़ा झटका साबित हो सकता है। इकट्ठा किए गए 2 हजार से अधिक लोगों में से 30 में मंगलवार को कोरोना संक्रमण की पुष्टि हो गई, जबकि करीब 350 लोगों में कोरोना के लक्षण हैं। सबसे खतरनाक बात यह है कि इसमें शामिल हुए लोगों में से सैकड़ों लोग देश के 20 राज्यों में जा चुके हैं। आशंका है कि उनके साथ उन राज्यों में भी चाइनीज वायरस पहुंच गया है। ऐसा हुआ तो यह बड़ी तबाही का कारण बन सकता है। दिल्ली पुलिस को पिछले दो दिन में इस मस्जिद में मिले 1830 व्यक्तियों में 281 विदेशी शामिल हैं, जिनमें ब्रिटेन और फ्रांस के नागरिक भी हैं। निजामुद्दीन मरकज मस्जिद स्थित ‘तबलीगी जमात’ मुख्यालय भारत में कोरोना वायरस संक्रमण का सबसे बड़ा स्रोत बन गया है। जमात में देश विदेश से आये लोगों के जरिये देश के तमाम हिस्सों में कोरोना वायरस फैला है। जमात के अलावा 26 मार्च को भी मरकज में मजहबी जलसा हुआ जिसमें करीब 2 हजार लोगों ने हिस्सा लिया, वह भी तब जब पूरे देश में लॉकडाउन लागू था।
मिले देशी-विदेशी तब्लीगी :
यहां 16 देशों के विदेशियों सहित कुल 1,830 लोग 24 मार्च को 21 दिवसीय लॉकडाउन लागू होने के बाद भी तब्लीगी जमात के मरकज में बने रहे। इन विदेशियों में इंडोनेशिया (72), श्रीलंका (34), म्यांमार (33), किर्गिस्तान (28), मलेशिया (20), नेपाल (9), बांग्लादेश (9), थाईलैंड (7), फिजी (4), इंग्लैंड (3), अफगानिस्तान, अल्जीरिया, जिबूती, सिंगापुर, फ्रांस और कुवैत का एक एक नागरिक शामिल हैं।
तालिबानी जुर्म, माफी के लायक नहीं : नकवी
केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने तबलीगी जमात की कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि उसने ‘तालिबानी गुनाह’ किया है और ‘उसके पाप माफी के लायक नहीं’ हैं। नकवी ने ट्वीट किया, ‘तबलीगी जमात का ‘तालिबानी जुर्म’. यह लापरवाही नहीं, ‘गंभीर आपराधिक हरकत’ है। जब देश एकजुट होकर कोरोना से लड़ रहा है तो ऐसे ‘गम्भीर गुनाह’ को माफ नहीं किया जा सकता।’
1 माह में 8,000 लोग आए
पिछले 1 महीने के दौरान विदेशियों सहित कम से कम 8,000 लोगों ने परिसर का दौरा किया है और उनमें से ज्यादातर या तो अपने संबंधित स्थानों पर लौट गये हैं या वर्तमान में देश के विभिन्न हिस्सों स्थित अन्य मरकजों में हैं। इसका उन राज्यों में कुछ पॉजिटिव मामलों से संबंध है।
10 लोगों की मौत
तब्लीगी जमात में शामिल हुए लोगों में से 10 लोगों की मौत कोरोना वायरस के कारण हो चुकी है। इनमें से 6 तेलंगाना, 2 दिल्ली में और 1 जम्मू-कश्मीर और एक अन्य की मौत हो गयी है। छह इंडोनेशियाई लोगों की हैदराबाद में कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई।
मौलाना पर केस दर्ज
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की सिफारिश पर इस बीच दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को तबलीगी जमात के मौलाना साद और अन्य के खिलाफ महामारी कानून 1897 के अंतर्गत मामला दर्ज कर लिया। मौलाना को दो साल तक की जेल हो सकती है।
विदेशी होंगे ब्लैकलिस्ट
सरकार उन करीब 300 विदेशी नागरिकों को प्रतिबंधित कर सकती है जो पर्यटक विजा पर आने के बावजूद मरकज के कार्यक्रम में शामिल हुए थे। ये विदेशी उन 8000 लोगों में शामिल थे जो तब्लीगी जमात के मरकज में मौजूद थे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बंगाल में आयी कोरोना वायरस संक्रमण की बाढ़

कोलकाता : बंगाल में कोरोना वायरस संक्रमण के पिछले 24 घंटे में 435 नये मामले दर्ज किये गये है। इस दौरान मरने वालों की संख्या आगे पढ़ें »

बॉयकॉट ने बीबीसी की स्पेशल टेस्ट कॉमेंट्री टीम छोड़ी

लंदन : इंग्लैंड के पूर्व कप्तान जैफरी बॉयकॉट ने कोरोना की वजह से बीबीसी की स्पेशल टेस्ट कॉमेंट्री टीम छोड़ दी है। वे 14 साल आगे पढ़ें »

एशिया कप में खेलना सपने सच होने जैसा : कप्तान आशा लता

बड़ी कामयाबी : होम्योपैथी दवा के हमले से ढेर हुआ कोराेना, 42 संक्रमित मरीज हुए स्वस्थ

इंसानियत हुई तार-तार : गर्भवती हथिनी के बाद अब गर्भवती गाय को खिलाया विस्फोटक, देशभर में आक्रोश

मिथिला की बेटी मधु माधवी का प्रतिष्ठित जेम्स वॉट मेडल के लिए हुआ चयन

पाक ने की नापाक हरकत, जम्मू में अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास चौकियों पर की अकारण गोलीबारी

SUPREME COURT

क्या निजी अस्पताल कोरोना मरीजों का फ्री इलाज करने को तैयार हैं : सुप्रीम कोर्ट

बड़ा कदम : निजी अस्पतालों का कोरोना इलाज शुल्क 15 हजार रुपये अधिकतम सीमा हुआ तय

50 हजार पेड़ लगायेगी कोलकाता पुलिस : सीपी

ऊपर