मजदूरों की मौत होना जमाने ने देखा, लेकिन सरकार को खबर नहीं हुई : राहुल

 

नयी दिल्ली : कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने लॉकडाउन के दौरान मजदूरों की मौत से जुड़ा आंकड़ा सरकार के पास नहीं होने को लेकर मंगलवार को कटाक्ष करते हुए कहा कि श्रमिकों की मौत होना सभी ने देखा, लेकिन सरकार को इसकी खबर नहीं हुई। उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘‘मोदी सरकार नहीं जानती कि लॉकडाउन में कितने प्रवासी मजदूर मरे और कितनी नौकरियां गयीं।’’ कांग्रेस नेता ने शायराना अंदाज में तंज किया, ‘‘तुमने ना गिना तो क्या मौत ना हुई? हां मगर दुख है सरकार पे असर ना हुआ, उनका मरना देखा जमाने ने, एक मोदी सरकार है जिसे खबर ना हुई।’’

लॉकडाउन के दौरान मारे गए मजदूरों का आंकड़ा सरकार के पास उपलब्ध नहीं
राहुल के इस प्रकार कहने का कारण यह कि केंद्र सरकार ने कहा था कि उसे पता नहीं कि लॉकडाउन के दौरान घर लौटते वक्त कितने मजदूरों की मौत हुई। कोरोनाकाल में संसद के पहले सत्र में ही सरकार ने माना कि उसके पास प्रवासी मजदूरों की मौत का कोई आंकड़ा नहीं है। इतना ही नहीं, लॉकडाउन के दौरान कितने मजदूरों का रोजगार छिन गई, इस पर भी सरकार ने कोई सर्वे नहीं करवाया है। गौरतलब है कि लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में श्रम एवं रोजगार मंत्री संतोष गंगवार ने कहा है कि लॉकडाउन के दौरान मारे गए मजदूरों के संदर्भ में आंकड़ा सरकार के पास उपलब्ध नहीं है। संगीता कुमारी सिंह देव, भोला सिंह, कलानिधि वीरस्वामी तथा कुछ अन्य सदस्यों ने सवाल किया था कि क्या लॉकडाउन के दौरान हजारों मजदूरों की मौत हो गई और अगर ऐसा है तो उसका विवरण दें।
शेयर करें

मुख्य समाचार

राजस्थान ने पंजाब को 7 विकेट से हराया, राजस्थान अब भी प्ले ऑफ की रेस में

अबुधाबी : बेन स्टोक्स की अगुआई में शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों के उम्दा प्रदर्शन की बदौलत राजस्थान रॉयल्स ने इंडियन प्रीमियर लीग में शुक्रवार को आगे पढ़ें »

1000 छक्के उड़ाने वाले दुनिया के पहले क्रिकेटर बने गेल

अबु धाबी : राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ शतक से चूक गए अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी के कारण दुनियाभर की टी20 लीग में अपना विशिष्ट स्थान रखने आगे पढ़ें »

ऊपर