भिखारियों को नहीं दे सकते दोष, सभ्य लोग भी नहीं कर रहे सामाजिक दूरी का पालन : उच्च न्यायालय

मुंबई : बंबई उच्च न्यायालय ने शुक्रवार को कहा कि कोविड-19 के प्रसार को रोकने के वास्ते सामाजिक दूरी और अन्य नियमों का पालन न करने के लिए केवल भिखारियों को ही दोष नहीं दिया जा सकता क्योंकि इन नियमों का पालन तो अभिजात्य वर्ग के लोग भी नहीं कर रहे हैं। मुख्य न्यायाधीश दीपांकर दत्त और न्यायमूर्ति माधव जामदार की खंड पीठ ने पुणे के एक निवासी ध्यानदेश्वर दरवटकर की ओर से दायर एक जनहित याचिका पर सुनवाई के दौरान यह टिप्पणी की। याचिकाकर्ता ने चिंता जताई थी कि भिखारी लोगों से भीख मांगते समय सामाजिक दूरी और मास्क का ध्यान नहीं रख रहे हैं। दरवटकर के वकील शेखर जगताप ने अदालत को बताया कि ऐसे लोगों से कोविड-19 फैलने का खतरा ज्यादा है क्योंकि वे किसी नियम का पालन नहीं कर रहे। पीठ ने याचिकर्ता को ‘संवेदनशील’ होकर सोचने को कहा। अदालत ने कहा कि जब पूरा देश कठिन समय से गुजर रहा है तब केवल भिखारियों को निशाना बनाना ठीक नहीं है। मुख्य न्यायाधीश दत्त ने कहा, ‘‘केवल भिखारियों को ही दोष क्यों दिया जाए? सभ्य और अभिजात्य वर्ग के लोग भी सामाजिक दूरी के नियम का पालन नहीं कर रहे हैं।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

बंगाल भाजपा में कोई आंतरिक कलह नहीं, तृणमूल कांग्रेस फैला रही अफवाह: दिलीप घोष

कोलकाता : पश्चिम बंगाल भाजपा में आंतरिक कलह की खबरों के बीच पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने सोमवार को कहा कि संगठन में आगे पढ़ें »

अरे कांग्रेसियों, राम का नाम लेने से ही समय शुभ हो जाता है : चौहान

भोपाल : कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह द्वारा पांच अगस्त को अयोध्या में भगवान राम के मंदिर शिलान्यास की घोषित तिथि को अशुभ मुहुर्त बताने पर आगे पढ़ें »

ब्रेकिंग न्यूज : अयोध्या में कोरोना का प्रकोप, अब एक और पुजारी हुए कोरोना संक्रमित

बंगाल में एंटीबॉडी टेस्ट कराने पर जोर दे रहे हैं लोग, देखें कहां कितने प्रतिशत एंटीबॉडी मौजूद

मोबाइल के हुए 25 साल, भारत में राइटर्स से दिल्ली हुई थी पहली मोबाइल कॉल

करोड़ों माताओं, बहनों के आशीर्वाद से देश नित नयी ऊंचाइयां छूएगा : प्रधानमंत्री मोदी

बाबरी मस्जिद के पक्षकार रहे इकबाल अंसारी को मिला भूमि पूजन का आमंत्रण

कोरोना संक्रमित मरीज की मदद के लिए केएमसी ने जारी किया हेल्प लाइन नंबर

कश्मीर में आतंकवादियों ने किया सैनिक का अपहरण, निजी वाहन को जलाया

देश चीन के खिलाफ, बीसीसीआई-आईपीएल ने चीनी कंपनियों को बना रखा प्रायोजक : उमर अब्दुल्ला

ऊपर