भारत और रूस के बीच परमाणु पनडुब्बी के लिये करार

नई दिल्ली : भारत लगातार अपनी सामरिक क्षमताओं में इजाफा कर रहा है इसी सिलसिले को आगे बढ़ाते हुये भारतीय नौसेना के लिये सरकार ने रूस से 10 साल की लीज पर परमाणु पनडुब्बी लेने के लिए करार किया है। यह समझौता तीन अरब डॉलर में किया गया है।
महीनों तक चली बातचीत के बाद समझौता
रक्षा मंत्रालय के एक प्रवक्ता से जब इस समझौते के बारे में पूछा गया तो उन्होंने प्रतिक्रिया व्यक्त करने से इनकार कर दिया। हालांकि सूत्रों की मानें तो दोनों देशों ने परमाणु पनडुब्बी के लिये महीनों तक कीमतों और समझौते के विभिन्न पहलुओं पर बातचीत के बाद इस अंतर-सरकारी समझौते पर दस्तखत किये हैं।
नौसेना को 2025 तक करना होगा इंतजार
सूत्रों ने बताया कि इस समझौते के तहत रूस भारतीय नौसेना को 2025 तक अकुला वर्ग की पनडुब्बी सौंपेगा। उन्होंने बताया कि भारत को सौंपे जाने वाले अकुला वर्ग पनडुब्बी को चक्र नाम दिया गया है। यह भारतीय नौसेना को लीज पर दी जाने वाली तीसरी रूसी पनडुब्बी होगी।  बता दें कि भारत ने 1988 में पहली रूसी परमाणु संचालित पनडुब्बी आईएनएस चक्र को तीन वर्ष की लीज पर लिया था। इसके बाद 2012 में आईएनएस चक्र को लीज पर दस वर्षों की अवधि के लिए हासिल किया था। सूत्रों ने बताया कि चक्र की लीज 2022 में समाप्त हो रही है और भारत लीज को बढ़ाने के बारे में विचार कर रहा है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

ममता की हुंकार : नहीं होने देंगे एनआरसी

सागरदिघी (मुर्शिदाबाद) : राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) को लेकर राजनीतिक बहस बढ़ती ही जा रही है। बुधवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने हुंकार भरते हुए आगे पढ़ें »

डीआरआई का रेड और नोटों की बारिश

कोलकाता : महानगर के डलहौसी इलाके के बेन्टिक स्ट्रीट में बुधवार की दोपहर बाद अचानक एक कामर्शियल बिल्डिंग से नोटों की बारिश होने लगी। घटना आगे पढ़ें »

ऊपर