भारत में ऑनलाइन बाल पोर्नोग्राफी पर लगेगी लगाम, अमेरिका करेगा मदद

नई दिल्ली : भारत में ऑनलाइन बाल (चाइल्‍ड) पोर्नोग्राफी और बाल यौन उत्पीड़न से संबंधित किसी भी विषय या सामग्री के प्रसार पर अंकुश लगने वाला है। अमेरिका इस काम में भारत की मदद करेगा। अधिकारियों के अनुसार दोनों देशों के बीच बुधवार को एक समझौते के तहत इस पर सहमति बनी है।
टिपलाइन रिपोर्ट हासिल करने में भारत की मदद करेगा
इस संबंध में भारत के राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) और अमेरिका के गुमशुदा एवं शोषित बच्चों के लिए राष्ट्रीय केंद्र (एनसीएमईसी) ने सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किये हैं। गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि समझौते पर हस्ताक्षर के साथ अब अमेरिका एनसीएमईसी से बाल यौन शोषण संबंधी विषयों या सामग्री और ऑनलाइन चाइल्ड पोर्नोग्राफी टिपलाइन रिपोर्ट प्राप्त करने में मदद करेगा। यह सहमति पत्र एनसीएमईसी के पास उपलब्ध एक लाख से अधिक टिपलाइन रिपोर्ट हासिल करने में भारत की मदद करेगा।
बाल पोर्नोग्राफी हटा सकेंगीं एजेंसियां
अधिकारी के मुताबिक यह समझौता बाल पोर्नोग्राफी एवं बाल यौन शोषण संबंधी सामग्रियों के संबंध में सूचनाएं साझा करने के लिए नया तंत्र स्थापित करने और अपराधियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की खातिर राह निकालेगा। साथ ही उन्होंने बताया कि इसके अलावा कानून प्रवर्तन एजेंसियां साइबर जगत से बाल पोर्नोग्राफी एवं बाल यौन शोषण सामग्री को भी हटा पाएंगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

टेनिस स्टार कोको गॉफ ने नस्लवाद का विरोध जताया

न्‍यूयार्क : सबसे कम उम्र में विंबलडन के लिए क्वालिफाई करने वाली अमेरिका की टेनिस स्टार कोको गॉफ ने नस्लवाद के खिलाफ विरोध जताया है। आगे पढ़ें »

खेल रत्‍न के लिए रोहित शर्मा और अर्जुन पुरस्‍कार के लिए की धवन के नाम की सिफारिश

नयी दिल्ली : पिछले साल एक दिवसीय विश्व कप में पांच शतक लगाने के साथ शानदार प्रदर्शन करने वाले भारतीय उपकप्तान रोहित शर्मा की बीसीसीआई आगे पढ़ें »

ऊपर