भारत-चीन में गलवान जैसी झड़प नहीं होगी दोबारा, हुई सहमति

नयी दिल्ली : सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार 30 जून को चीन के कोर कमांडर मेजर जनरल लिउ लिन ने भारत के कोर कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल हरेंदर सिंह से 12 घंटों की हुई बातचीत में दोनों देश ने 15 जून जैसी खूनी भिड़ंत फिर ना करने पर सहमति जतायी हैं। इसी के साथ यह सहमति भी बनी है कि 72 घंटों तक दोनों एक दूसरे पर निगरानी रखेंगे कि जिन बातों पर एक राय बन गई उसको लागू किया गया है या नहीं। चीन की अखबार ग्लोबल टाइम्स का दावा है कि दोनों देश चरणबद्ध तरीके से सैनिकों को हटाने के लिए तैयार हो गये हैं।

राजनाथ जाएंगे लद्दाख

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ग्राउंड जीरो सरहद पर चीन के विरूद्ध मोर्चा मजबूत करने जाएंगे। सिंह शुक्रवार को लेह पहुंचेंगे और पूर्वी लद्दाख में चीन से बने तनाव की स्थिति पर सुरक्षा हालातों की समीक्षा करेंगे। वहां तैनात जवानों से भी मिलेंगे और गलवान के वीरों से मिलने लेह के अस्पताल जाएंगे। चीनी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने दावा किया है कि भारत और चीन एलएसी पर तनाव कम करने पर सहमत हो गए हैं। दोनों देशों में चरणबद्ध तरीके से सैनिकों को हटाने पर सहमति बन गई है। चीनी अखबार ने सूत्र के हवाले से कहा कि भारत और चीन एलएसी पर स्थिति को शांतिपूर्ण बनाने के लिए प्रभावी उपाय करेंगे। ग्लोबल टाइम्स के इस दावे पर अभी तक कोई मुहर नहीं लगी है। सूत्रों के मुताबिक चीन 22 जून की बैठक में भी चरणबद्ध तरीके से सरहद से हटने को तैयार हो गया था लेकिन 8 दिन बाद भी हालात में कोई बदलाव नहीं हुआ है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

12 अगस्‍त को दुनिया की पहली कोरोना वैक्‍सीन होगी पंजीकृत

वायरस टीके के लिए रूस की जल्दबाजी ने पश्चिम में चिंताएं बढायीं मॉस्को : दुनियाभर में जहां कोरोना वायरस के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हो आगे पढ़ें »

बीसीसीआई का दावा, यूएई में आईपीएल कराने को केंद्र सरकार की हरी झंडी

नयी दिल्ली : भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) को इस साल इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में कराने की मंजूरी मिल गयी है आगे पढ़ें »

ऊपर