भारत का अपने पड़ोसियों सहित सभी देशों के साथ शांतिपूर्ण सह-अस्तित्व पर विश्वास : नायडू

भारत किसी को अपने अंदरुनी मामलों में दखल की अनुमति नहीं देता
नयी दिल्ली : उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने पाकिस्तान का नाम लिये बगैर कहा कि भारत अपने पड़ोसियों सहित सभी देशों के साथ शांतिपूर्ण सह-अस्तित्व में विश्वास करता है वह न किसी देश के अंदरुनी मामलों में दखल देता है और न ही अपने मामलों में किसी को हस्तक्षेप की अनुमति देता है। नायडू ने मंगलवार को यहां फ्रांस की आर्थिक मामलों की स्थायी समिति की अध्यक्ष और सीनेट सोफी प्राइमस के नेतृत्व में फ्रांसिसी सांसदों के शिष्टमंडल के साथ बातचीत के दौरान कहा कि भारत और फ्रांस के बीच सामरिक भागीदारी भारत की विदेशी नीति का एक महत्वपूर्ण स्तंभ है। दोनों देश मिलकर शांति और स्थिरता के अग्रदूत के रूप में काम कर सकते हैं। विश्व में शांति और सद्भाव को बढ़ावा देने के लिए दोनों पक्षों के बीच नजदीकी सहयोग की आवश्यकता है। भारत रक्षा सहयोग, समुद्री सुरक्षा, आतंकवाद विरोध, अंतरिक्ष सहयोग, आर्थिक भागीदारी और अन्य क्षेत्रों में फ्रांस के साथ अपनी भागीदारी को बहुत महत्व देता है। नायडू ने दोनों देशों के बीच नजदीकी संबंधों को बढ़ावा देने के लिए भारत-फ्रांस संसदीय मैत्री समूह की स्थापना का सुझाव दिया। दोनों देशों के बीच अधिक से अधिक व्यापार, प्रौद्योगिकी और पूंजी प्रवाह का आह्वान करते हुए उन्होंने कहा कि भारत के विकास के लिए शहरी नवीकरण और स्वच्छ ऊर्जा में भारी निवेश की जरूरत है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

28 को शाह के साथ मंच साझा कर सकती हैं ममता

कोलकाता : आगामी 28 फरवरी यानी शुक्रवार काे ओडिशा के भुवनेश्वर में पूर्वांचल राज्यों की सुरक्षा काे लेकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बैठक आगे पढ़ें »

भाजपा शुरू करने जा रही है ‘भाजपा के बोलो’

मिदनापुर : तृणमूल के ‘दीदी के बोलो’ की तर्ज पर अब ‘भाजपा के बोलो’ अभियान की शुरुआत होने जा रही है। इस बारे में प्रदेश आगे पढ़ें »

ऊपर