भाजपा ने राजघराने की दीया कुमारी को राजसमंद से उम्मीदवार बनाया

जयपुर: भारतीय जनता पार्टी ने राजस्थान की चार और लोकसभा सीटों के लिए अपने प्रत्याशियों की शनिवार को घोषणा की। इनमें शामिल तीन नये चेहरों में जयपुर के पूर्व राजघराने की सदस्य दीया कुमारी का नाम भी है जिन्हें पार्टी ने राजसमंद से उम्मीदवार बनाया है। पार्टी ने बाड़मेर से अपने मौजूदा सांसद कर्नल सोना राम का टिकट काट दिया है। पार्टी ने उनकी जगह पूर्व विधायक कैलाश चौधरी को टिकट दी है। इसी तरह पार्टी ने करौली धौलपुर से अपने मौजूदा सांसद मनोज राजोरिया को ही प्रत्याशी बनाया है। वहीं भरतपुर सीट से मौजूदा सांसद बहादुर सिंह कोली का टिकट काटकर रंजीता कोली पर भरोसा जताया है। रंजीता बयाना से सांसद रहे गंगाराम कोली की पुत्रवधु हैं।
नहीं उतारा चार मौजूदा सांसदों को
पार्टी की नयी सूची को देखा जाए तो इसमें दीया कुमारी, कैलाश चौधरी व रंजीता कोली पहली बार लोकसभा चुनाव लड़ रही हैं। इस तरह से पार्टी ने अब तक राजस्थान में अपने चार मौजूदा सांसदों को फिर मैदान में नहीं उतारा है जिनमें केंद्रीय मंत्री सीआर चौधरी नागौर, सोना राम बाड़मेर, बहादुर सिंह कोली भरतपुर है। वहीं राजसमंद से मौजूदा सांसद हरिओम सिंह राठौड़ निजी कारणों के चलते चुनाव लड़ने से इनकार कर चुके हैं। भाजपा ने राज्य में राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी आरएलपी के साथ गठजोड़ किया है और नागौर की एक सीट उसे दी है। वहां से विधायक हनुमान बेनीवाल के चुनाव लड़ने की संभावना है।
25 में से 23 सीटों पर प्रत्याशी घोषित
पार्टी ने राज्य की 25 में से 23 सीटों के लिए अपने प्रत्याशी घोषित कर दिए हैं। एक सीट दौसा बची है। जानकारों के अनुसार इस सीट पर भाजपा के लिए पेच फंस गया है। मीणा बहुल दौसा को राज्यसभा सदस्य किरोड़ी लाल मीणा के दबदबे के कारण भी जाना जाता है। यहां पर किरोड़ीलाल मीणा की पत्नी व पूर्व विधायक गोलमा देवी, मीणा के भाई जगमोहन मीणा भी दावेदार माने जा हैं। लेकिन पार्टी के सर्वे इसके पक्ष में नहीं हैं। कांग्रेस ने दौसा सीट पर सविता मीणा को टिकट दी है।
पार्टी ने राजस्थान में अब तक दो महिलाओं को अपना प्रत्याशी बनाया है। ये दीया कुमारी व रंजीता कोली पहली बार लोकसभा चुनाव लड़ रही हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

modi

प्रधानमंत्री मंगलवार को उद्योग जगत को करेंगे संबोधित

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को उद्योग मंडल सीआईआई के 125वें स्थापना दिवस पर संबोधित करेंगे। जानकारों के मुताबिक कोरोना महामारी से उपजे आगे पढ़ें »

अभी नहीं चलेंगी निजी बसें

कोलकाता : 1 जून से लॉकडाउन खुलने की शुरुआत हो जाएगी और 8 से काफी हद तक राहत मिल जाएगी, लेकिन बंगाल के लोगों के आगे पढ़ें »

ऊपर