भाजपा के पूर्व अध्यक्ष एवं पूर्व विधायक के एन लक्ष्मणन का निधन, मोदी ने व्यक्त किया दुख

चेन्नई : तमिलनाडु भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पूर्व अध्यक्ष एवं पूर्व विधायक के एन लक्ष्मणन का सेलम में उनके आवास पर निधन हो गया। वह 90 वर्ष के थे। लक्ष्मणन का वृद्धावस्था संबंधी बीमारी के कारण सोमवार की रात में निधन हुआ। उनके परिवार में पत्नी रंगनायकी अम्मल, बेटी भुवनेश्वरी और बेटा शेखर हैं।। परिवार के सदस्यों ने बताया कि लक्ष्मणन को हाल ही में एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था और कुछ दिन पहले ही उन्हें छुट्टी दी गई थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित और विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं ने लक्ष्मणन के निधन पर दुख व्यक्त किया है।

मोदी ने ट्वीट कर कहा

मोदी ने ट्वीट किया, ‘ के एन लक्ष्मणन जी के निधन से बहुत दुखी हूं। वह तमिलनाडु के लोगों की सेवा करने और भाजपा संगठन का विस्तार करने में सबसे आगे थे।’ उन्होंने कहा, ‘आपातलकाल विरोधी आंदोलन में उनकी (लक्ष्मणन) भूमिका और सामाजिक-सांस्कृतिक गतिविधियों में भागीदारी को हमेशा याद रखा जाएगा।’ मोदी ने ट्वीट किया, ‘श्री के एन लक्ष्मणन जी के निधन से दुखी हूं। वह तमिलनाडु के लोगों की सेवा करने और वहां भाजपा संगठन का विस्तार करने में अग्रणी रहे थे।’ उन्होंने कहा, ‘आपातकाल विरोधी आंदोलन में उनकी भूमिका और सामाजिक-सांस्कृतिक गतिविधियों में उनकी भागीदारी को हमेशा याद रखा जाएगा। ओम शांति।’

तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने आपातकाल लगाया था और यह 1975 और 1977 के बीच 21 महीने तक चला था। इसे स्वतंत्र भारत के इतिहास का एक काला चरण माना गया, जिस दौरान बहुत सारे विपक्षी नेताओं को जेल में बंद कर दिया गया था और प्रेस पर सेंसरशिप लगाया गया था। आपातकाल के विरोध में उस समय देशभर में आंदोलन हुए। लक्ष्मणन ने तब उन आंदोलनों में बढ़-चढकर हिस्सा लिया था। लक्ष्मणन ने 200 106 में चेन्नई के मायलापुर विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व किया था। वह दो बार भाजपा की तमिलनाडु इकाई के अध्यक्ष रहे।

जे पी नड्डा ने दी श्रद्धांजलि

पार्टी अध्यक्ष जे पी नड्डा ने भी वरिष्ठ नेता को श्रद्धांजलि अर्पित की और कहा, ‘‘जनसंघ से भाजपा की लक्ष्मणन की उल्लेखनीय यात्रा और जनता की सेवा के लिए उनका समर्पण हमें हमेशा प्रेरित करेगा।’’
नड्डा ने लक्ष्मणन के शोक संतप्त परिवार के सदस्यों और उनके प्रशंसकों के प्रति संवेदना व्यक्त की।भाजपा के राष्ट्रीय सचिव मुरलीधर राव ने कहा, ‘‘वह बहुत ही सरल थे लेकिन राष्ट्रवाद की विचारधारा और जन सेवा के प्रति प्रतिबद्ध थे। लोगों और राष्ट्र को सशक्त बनाने के मार्ग पर अडिग होकर चलते रहे।’’पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एल मुरुगन ने कहा कि लक्ष्मणन ने राजनीति से लेकर धर्म और शिक्षा तक सभी क्षेत्रों में उत्कृष्ट प्रदर्शन किया। वह राष्ट्रवादी थे। उन्होंने कहा, ‘‘शिक्षा के क्षेत्र में उनका योगदान उल्लेखनीय है।’’ 1970 में, एन पी वासुदेवन के साथ उन्होंने केवल 35 छात्रों के साथ साधारण तरीके से श्री विद्या मंदिर स्कूल शुरू किया था। मुरुगन ने कहा कि अब वह संस्थान काफी बड़ा हो गया है, जहां 1,000 से अधिक छात्र पढ़ते हैं। वरिष्ठ भाजपा नेता पोन राधाकृष्णन, सी पी राधाकृष्णन, प्रदेश महासचिव वनाथी श्रीनिवासन और के टी राघवन समेत पार्टी के कई अन्य नेताओं ने भी लक्ष्मणन के निधन पर दुख जताया और उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की।

शेयर करें

मुख्य समाचार

आज रॉयल बंगाल टाइगर का जन्म दिन

नयी दिल्ली : बंगाल के ‘रॉयल बंगाल टाइगर’, ‘प्रिंस आफ कोलकाता ’ या फिर ‘दादा’, का जन्म 8 जुलाई 1972 (48 वर्ष) को हुआ था। आगे पढ़ें »

बंगाल में सात दिन के लिए निरूद्ध क्षेत्रों में लॉकडाउन लागू रहेगा : ममता

कोलकाता :  देशभर में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों से बचाव के लिए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि राज्य में आगे पढ़ें »

ऊपर