बेहतर अस्त्र शस्त्र की आपूर्ति के लिए सेना का रक्षा मंत्रालय से दखल का आग्रह

नयी दिल्ली : सरकारी ऑर्डिनेंस फैक्ट्री बोर्ड (ओएफबी) द्वारा आपूर्ति किए जा रहे युद्धक टैंकों, तोपों और एयर डिफेंस गन की खराब गुणवत्ता के कारण बढ़ती दुर्घटनाओं को रोकने के लिए सेना ने रक्षा मंत्रालय से दखल देने का अनुरोध किया है। 
महत्वपूर्ण हथियारों को काफी नुकसान हुआ
आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि सेना ने विशेष तौर पर सचिव (रक्षा उत्पादन) अजय कुमार के समक्ष यह मुद्दा उठाते हुए कहा कि अस्त्र शस्त्र की खराब गुणवत्ता के कारण पिछले कुछ वर्षों में सेना के महत्वपूर्ण हथियारों को काफी नुकसान हुआ है। सेना के अनुरोध पर रक्षा मंत्रालय ने इस मुद्दे की पड़ताल की और पाया गया कि खामी वाले युद्धक हथियारों के कारण हो रही दुर्घटनाओं को रोकने के लिए ओएफबी युद्धक उपकरणों की गुणवत्ता सुधारने में बहुत सक्रियता से नहीं जुटा है।
त्रुटिपूर्ण अस्त्र शस्त्र के कारण सेना के जवान घायल
सूत्रों ने बताया कि सेना ने मंत्रालय को एक रिपोर्ट भी सौंपी है, जिसमें टी-72 और टी-90 और अर्जुन मुख्य युद्धक टैंक से जुड़ी घटनाओं के अलावा 105 एमएम इंडियन फिल्ड गन, 105 एमएम लाइट फिल्ड गन, 130 एमएम एमए1 मिडियम गन और 40 एमएम एल-70 एयर डिफेंस गन का भी जिक्र है। सेना ने उन घटनाओं का भी उल्लेख किया है जिसमें त्रुटिपूर्ण अस्त्र शस्त्र के कारण सेना के जवान घायल हो गये। साथ ही सूत्रों ने यह भी बताया कि सेना इस मुद्दे पर बहुत गंभीर है और उसने रक्षा मंत्रालय को सुरक्षा बल को आपूर्ति किये जाने वाले युद्धक हथियारों की गुणवत्ता को सुधारने के लिए उपयुक्त कदम उठाने का आग्रह किया है।
निरीक्षण के बाद ही सेना को अस्त्र शस्त्र की आपूर्ति
वहीं ओएफबी ने कहा कि गुणवत्ता आश्वासन महानिदेशालय (डीजीक्यूए) के गुणवत्ता नियंत्रण विभाग के निरीक्षण के बाद ही भारतीय सेना को अस्त्र शस्त्र की आपूर्ति की जाती है। ओएफबी ने कहा कि निर्धारित प्रयोगशाला में सभी सामग्री की जांच की गयी और सेना को आपूर्ति किये जाने से पहले सिलसिलेवार परीक्षण भी किये गये 

बता दें कि ओएफबी देश भर में 41 आर्डिनेंस फैक्टरी का संचालन करता है और यह रक्षा मंत्रालय के रक्षा उत्पादन विभाग के अंतर्गत काम करता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

उत्तर प्रदेश के गांवों में अनाज भंडारण के लिए बनेंगे 5000 गोदाम

लखनऊ : उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार किसानों को फसल सुरक्षित रखने और उसकी अच्छी कीमत दिलाने के लिये गांवों में 5000 भण्डारण गोदाम आगे पढ़ें »

गांजे की खेती वाले कमेंट पर भड़कीं कंगना रनौत, उद्धव ठाकरे पर किया पलटवार

  मुंबई: बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के गांजे की खेता वाले कमेंट पर पलटवार करते हुए कहा कि जनसेवक होकर आप इस तरह आगे पढ़ें »

ऊपर