बेंगलुरू में सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट को लेकर हिंसा, पुलिस की गोलीबारी में 3 मरे

बेंगलुरू : कांग्रेस विधायक अखंड श्रीनिवास मूर्ति के भतीजे नवीन द्वारा सोशल मीडिया पर एक आपत्तिजनक पोस्ट साझा किये जाने के बाद हुई हिंसा पर काबू पाने के लिए पुलिस की गोलीबारी में तीन लोगों की मौत हो गयी। बेंगलुरू के पुलिस आयुक्त कमल पंत ने पुलिस की गोलीबारी में तीन लोगों के मारे जाने की पुष्टि की है और कहा कि बेंगलुरू के पुलाकेशी नगर में हुई हिंसा के मामले में 110 लोग गिरफ्तार किये गये हैं। हिंसा मंगलवार रात शुरू हुई जो बुधवार तड़के तक जारी रही।  इस हिंसा में 60 से ज्यादा पुलिसकर्मी जख्मी हो गये। इनमें एक एडिशनल पुलिस कमिश्नर भी शामिल हैं।

मंगलवार की रात क्रुद्ध भीड़ ने एक थाने और विधायक मूर्ति के आवास में तोड़फोड़ की थी। कथित सोशल मीडिया पोस्ट डालने वाले नवीन को गिरफ्तार कर लिया गया है। उधर, मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि मूर्ति के आवास और डीजे हाली पुलिस थाने पर हमला और दंगे निंदनीय हैं। सरकार ने हिंसा पर काबू पाने के लिए हर संभव कार्रवाई की है। मंगलवार रात को सोशल मीडिया पोस्ट से भड़के सैकड़ों लोगों ने उग्र प्रदर्शन किया और डीजे हाली पुलिस स्टेशन में आग लगा दी। कई पुलिस और निजी वाहनों को आग लगा दी, विधायक मूर्ति और उनकी बहन के सामान के साथ तोड़-फोड़ की। एक एटीएम को भी तहस-नहस कर दिया।

भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने लाठियां चलाईं, आंसू गैस के गोले दागे और गोलियां चलायीं जिसमें तीन लोगों की मौत हो गयी। वहीं मूर्ति ने अपनी वीडियो अपील में कहा कि मैं मुस्लिम भाईयों से अपील करता हूं कि कुछ बदमाशों की गलतियों के चलते हमें हिंसा में शामिल नहीं होना चाहिए। कांग्रेस विधायक एवं पूर्व मंत्री बीजेड ज़मीर अहमद खान ने हिंसा को ‘दुर्भाग्यपूर्ण’ करार दिया। शिवाजी नगर से कांग्रेस के विधायक रिजवान अरशद ने भी लोगों से शांति और सद्भाव बनाए रखने की अपील की है।

क्यों हुई हिंसा? : आरोप है कि कांग्रेस के विधायक मूर्ति के भतीजे नवीन ने पैगंबर मोहम्मद को लेकर एक आपत्तिजनक पोस्ट की, जिससे मुस्लिम समुदाय के लोग नाराज हो गये। कर्नाटक के गृह मंत्री बसवराज बोम्‍मई ने कहा कि हिंसाग्रस्त इलाकों में अतिरिक्त बल तैनात किया गया है। उपद्रवियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। बेंगलुरु में हिंसा पर कर्नाटक के मंत्री सीटी रवि ने कहा कि यह एक सुनियोजित दंगा था। सोशल मीडिया पर पोस्ट होने के एक घंटे के भीतर हजारों लोग इकट्ठा हुए और 200-300 वाहनों और विधायक के आवास को नुकसान पहुंचाया।

विधायक के भतीजे ने कहा-आईडी हैक हो गयी थी : कांग्रेस विधायक के भतीजे नवीन ने इस मामले में सफाई देते हुए कहा कि उसका फेसबुक अकाउंट हैक हो गया था। उसने किसी भी धर्म को लेकर कोई टिप्पणी नहीं की है। विधायक मूर्ति ने भी भतीजे के बचाव में बयान जारी किया।

दंगाइयों से मंदिर को मुस्लिम युवकों ने बचाया : डीजे हल्ली इलाके में दंगाइयों से मंदिर को बचाने के लिए मुस्लिम युवकों ने ह्यूमन चेन बनायी। बताया जा रहा है कि जब तक दंगाई वहां से चले नहीं गये, तब तक वे वहीं खड़े रहे। सोशल मीडिया समेत सभी जगह इन युवकों की तारीफ हो रही है।

बेंगलुरु में धारा 144 : हिंसा शहर के डीजे हल्ली और केजी हल्ली इलाके में हुई। फिलहाल यहां कर्फ्यू लगा दिया गया है। वहीं, पूरे बेंगलुरु में धारा 144 लगाई गयी है। अब तक 110 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

कानून व्यवस्था बनाये रखने की अपील : गृहमंत्री ने लोगों से कानून-व्यवस्था बनाए रखने की अपील की। वहीं गृहमंत्री बसवराज बोम्‍मई ने इस घटना की निंदा की साथ ही लोगों से कानून-व्यवस्था बनाए रखने की अपील की।

एसडीपीआई के नेता गिरफ्तार: पुलिस ने हिंसा के मामले में सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (एसडीपीआई) के नेता को गिरफ्तार किया गया है। अभी इसके नाम का खुलासा नहीं किया गया है।

भाजपा ने साधा कांग्रेस पर निशाना : बेंगलुरु के पुलाकेशी नगर में हिंसा के लिए भाजपा ने बुधवार को कांग्रेस पर निशाना साधा और इस पूरे मामले में उसकी चुप्पी पर सवाल उठाये। भाजपा के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बी एल संतोष ने ट्वीट कर कांग्रेस पर आरोप लगाया कि ‘तुष्टिकरण’ ही उसकी एकमात्र ‘आधिकारिक नीति’ है। भाजपा महासचिव पी मुरलीधर राव ने एक ट्वीट में कहा कि बेंगलुरू में भीड़ द्वारा केजी हल्ली और डीजे हल्ली पुलिस थानों में भयावह हमला किया गया जिसमें 60 पुलिसकर्मी घायल हो गये।

शेयर करें

मुख्य समाचार

रोजवैली मामले में सीबीआई ने शुभ्रा कुंडू को किया ​गिरफ्तार

आज भुवनेवर कोर्ट में किया जाएगा पेश कोलकाता : 17000 करोड़ के बंगाल के सबसे बड़े घोटाले रोजवैली कांड में सीबीआई की टीम ने गौतम कुंडू आगे पढ़ें »

मेरी मातृभाषा गुजराती है और हिंदी मेरी मौसी है : आरजे वशिष्ठ

कोलकाताः "कोलकाता से मेरा नाता काफी पुराना है। सिटी ऑफ जॉय कहे जाने वाले इस शहर का नाम ही इतना प्यारा है तो इस जगह आगे पढ़ें »

ऊपर