बेंगलुरु में लोकायुक्त पर चाकू से हमला, हमलावर गिरफ्तार

बेंगलुरुः कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में बुधवार को कर्नाटक के लोकायुक्‍त पर चाकू से हमला करने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि लोकायुक्‍त पर यह हमला उनके कार्यालय के भीतर एक शिकायतकर्ता ने किया है। प्रदेश के गृहमंत्री रामलिंगा रेड्डी ने बताया कि जस्टिस विश्‍वनाथ शेट्टी अब खतरे से बाहर हैं। वहीं, पुलिस ने आरोपी को मौके से ही गिरफ्तार कर लिया।
लोकायुक्त पर हमला बुधवार को उस वक्त हुआ जब वह अपने कार्यालय में एक मामले की सुनवाई कर रहे थे। बताया जा रहा है कि आरोपी ने धारदार हथियार से लोकायुक्त पर कई बार हमला किया। इस घटना से हड़कंप मच गया। खून से लथपथ शेट्टी को तुरंत अस्पताल ले जाया गया। इस दौरान हरकत में आई पुलिस ने हमलावर शख्स को धर दबोचा। उसने इस वारदात को क्यों अंजाम दिया, अभी यह पता नहीं चल पाया है।

कर्नाटक के गृह मंत्री रामलिंगा रेड्डी ने बताया कि शेट्टी अब खतरे से बाहर हैं और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। मामले में सुरक्षा में हुई चूक सामने आ रही है, साथ ही इस बात की जांच हो रही है कि आरोपी हथियार के कार्यालय में घुसने में कामयाब कैसे हुआ। राज्य के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने अस्पताल पहुंचकर लोकायुक्त का हालचाल जाना। मामले में प्रत्यक्षदर्शी वकील जय अन्ना ने बताया एक व्यक्ति ने उनकी हत्या करने की कोशिश की। उसने उनपर तीन बार अपनी चाकू से मारा। वह फर्श पर गिर गए। तो आप देख सकते हैं कि किस तरह की सुरक्षा सिद्धारमैया सरकार ने हमें उपलब्ध कराई है। स्थिति बेहद खराब है।

कर्नाटक सरकार आलोचनाओं से घिरी

घटना के बाद से कर्नाटक सरकार आलोचनाओं से घिर गई है। जेडी(एस) के राष्ट्रीय अध्यक्ष एचडी देवगौड़ा ने कहा कि कांग्रेस सरकार लोकायुक्त की संस्था को मारने की कोशिश कर रही है और यह हमला सिर्फ एक झटका है। वहीं कर्नाटक बीजेपी ने राज्य में कानून व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए कहा कि लोकायुक्त पर हमला निदंनीय है। इससे यह साबित होता है कि सिद्धारमैया के कर्नाटक में अपराधियों को कानून का कोई डर नहीं है। कोई हैरानी की बात नहीं कि अगर कर्नाटक के गृहमंत्री रामलिंगा रेड्डी बाहर आए और कहें कि आरोपी की मंशा लोकायुक्त को मारने की नहीं बल्कि ‘सिर्फ’ चाकू खोंसने की थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सन्मय बंद्योपाध्याय ने जेल से रिहा होते ही बताया जान को खतरा

कहा राज्य में चल रहा जंगल राज संवाददाताओं से बातचीत के दौरान फूट-फूटकर रोने लगे सन्मार्ग संवाददाता पुरुलिया : सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट किये जाने के कथित आगे पढ़ें »

दीपावली पर ड्रोन से नजर रखेगा पीसीबी ऊंची इमारतों पर

प्रतिबंधित पटाखे जलाने पर आवासन के अध्यक्ष के खिलाफ कार्रवाई वसूला जाएगा 5 हजार से लाख रुपए तक का जुर्माना दोषी पाए जाने पर होगी 5 साल आगे पढ़ें »

ऊपर