बिहार में भी लव जिहाद के खिलाफ कानून

पटनाः भाजपा शासित राज्य मध्यप्रदेश में जहां लव जिहाद को लेकर कानून का मसौदा तैयार हो चुका है। वहीं उत्तर प्रदेश भी जल्द इसे लेकर कानून लाने वाला है। हरियाणा, कर्नाटक के बाद अब भाजपा ने बिहार के लिए नई योजना बनाई है। भाजपा अपनी गठबंधन सरकार वाले राज्य बिहार में भी लव जिहाद कानून बनाना चाहती है। इस लेकर केंद्रीय मंत्री व बिहार के कद्दावर भाजपा नेता गिरिराज सिंह ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से कानून बनाने का अनुरोध किया है। हालांकि, इस पर जदयू की ओर से प्रतिक्रिया भी दी गई है। लेकिन जिस तरह से पूरा मामला सामने आया है उसको लेकर सवाल उठ रहे हैं कि ‘लव जिहाद’ क्या सिर्फ भाजपा का एजेंडा है?
सामाजिक समरसता के विषय
सिंह ने  बिहार में भी इस तरह के कानून बनाए जाने का समर्थन किया और दावा किया कि यह विषय देश के राज्यों में परेशानी का सबब बन गया है। भाजपा नेता ने नीतीश कुमार सरकार से अनुरोध किया कि वह यह समझें कि लव जिहाद और जनसंख्या नियंत्रण जैसे मुद्दों का सांप्रदायिकता से कोई सरोकार नहीं है बल्कि ये तो सामाजिक समरसता के विषय हैं।
सभी गैर मुस्लिमों की समस्या
सिंह ने कहा कि लव जिहाद को देश के सभी राज्यों में केवल हिंदुओं में नहीं बल्कि सभी गैर-मुस्लिमों की समस्या के तौर पर देखा जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि केरल में जहां ईसाइयों की बड़ी आबादी है, वहां इस समुदाय के सदस्यों ने इस घटनाक्रम पर चिंता जताई है। लोकसभा में बिहार की बेगूसराय लोकसभा सीट का प्रतिनिधित्व करने वाले केंद्रीय मंत्री ने जाहिर तौर पर साइरो-मालाबार चर्च के इन आरापों की ओर इशारा करते हुए यह टिप्पणी की कि लव जिहाद के नाम पर ईसाई लड़कियों को निशाना बनाया जा रहा है और मारा जा रहा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

महामारी के बीच ध्रुवीकरण नहीं, समावेशी वृद्धि की जरूरत : ममता

कोलकाता : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा है कि कोविड-19 महामारी के बीच ध्रुवीकरण के बजाय समावेशी वृद्धि की जरूरत है। गुरुवार को एबीपी द्वारा आगे पढ़ें »

modis

23 काे बंगाल आ सकते हैं पीएम

कोलकाता : विश्वभारती विश्वविद्यालय के प्रबंधन की ओर से अपने स्थापना दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आने का न्योता दिये जाने का निर्णय लिया आगे पढ़ें »

ऊपर