‘बारिश के देवता’ को मिला राजेंद्र यादव हंस कथा सम्मान

प्रत्यक्षा सिन्हा

नयी दिल्ली : हिंदी की चर्चित युवा लेखिका प्रत्यक्षा सिन्हा को कहानी के जरिये समाज में व्याप्त भ्रष्टाचार का पर्दाफाश करने के लिए राजेंद्र यादव हंस कथा सम्मान प्रदान किया गया है।
गुरुग्राम में पावर ग्रिड कॉरपोरेशन में कार्यरत प्रत्यक्षा सिन्हा को वर्ष 2018 का यह सम्मान हिंदी के प्रख्यात लेखक राजेंद्र यादव की जयंती के मौके पर मंगलवार की शाम को साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित लेखक उदय प्रकाश ने उनकी कहानी ‘बारिश के देवता’के लिए प्रदान किया। इस वर्ष पुरस्कार के निर्णायक उदय प्रकाश थे। इस अवसर पर आयोजित समारोह में वक्ताओं ने तेलगू के प्रसिद्ध कवि वरवर राव, मानवाधिकार कार्यकर्ता गौतम नवलखा तथा अधिवक्ता सुधा भारद्वाज आदि को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या की साजिश के आरोप में गिरफ्तार किए जाने की कड़ी निंदा की और कहा कि देश में लेखकों, बुद्धिजीवियों को डराने के लिए भय का माहौल बनाया जा रहा है ताकि वे अपने समय का सच न लिखें और व्यवस्था को एक्सपोज न करें। मुंशी प्रेमचंद द्वारा स्थापित पत्रिका हंस के पूर्व संपादक राजेंद्र यादव की स्मृति में हर साल उनके जन्मदिन पर यह पुरस्कार किसी श्रेष्ठ कहानी को दिया जाता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

पंचायतों में बनेगा ‘मेरा बूथ सबसे मजबूत’,सरकार का गांवों की तरफ रुख

कोलकाता : राज्य सरकार द्वारा चालू की गयी सरकारी योजना व प​रियोजनाओं का लाभ राज्यभर में लोगों को मिल रहा है कि नहीं यह जानने आगे पढ़ें »

sonia

73 की हुईं सोनिया गांधी, पीएम मोदी सहित कई नेताओं ने दी बधाई

दिल्ली : कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी सोमवार को 73 साल की हो गईं। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित कई नेताओं ने उन्हें जन्मदिन आगे पढ़ें »

ऊपर