बड़ी खबरः 10 दिनों में वैक्सीन लगनी शुरू हो सकती है

नई दिल्ली: स्वास्थ मंत्रालय ने कहा कि देश में 10 दिनों में वैक्सीन लगनी शुरू हो सकती है। कोवैक्सीन के इस्तेमाल से पहले रजामंदी लेना जरूरी होगा। मंजूरी मिलने के 10 दिन बाद वैक्सीन रोल आउट हो सकता है। कोरोना पर प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान स्वास्थ्य मंत्रालय ने ये बात कही। इसमें कहा गया कि देश के अलग-अलग राज्यों में किया गया वैक्सीन का ड्राई रन सफल रहा है। गौरतलब है कि 3 जनवरी को ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (डीसीजीआई) ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के ‘कोवशील्ड’ और भारत बायोटेक के ‘कोवैक्सीन’ को इमरजेंसी इस्तेमाल की इजाजत दी थी। मंत्रालय ने कहा कि रोजोना आने वाले कोविड19 पॉजिटिव मामलों की दर 3 फीसदी से कम बना हुआ है। सक्रिय मामलों की संख्या 2.5 लाख है। इनमें से केवल 44 फीसदी ही अस्पतालों में हैं जबकि 56 प्रतिशत केस ऐसे हैं जो एसिंप्टोमेटिक या माइल्ड सिम्टम्स वाले हैं जो होम आइसोलेशन में हैं। प्रेस कॉन्फ्रेस में सरकार ने कहा कि भारत में बीते सप्ताह प्रति लाख आबादी पर केवल 96 नए मामले आए हैं जिनमें प्रति दस लाख एक मौत है।

देश में वैक्सीन पहुंचाने की प्रक्रिया कैसी होगी?

मंत्रालय ने जानकारी दी कि इसे डिजिटल तरीके से मॉनिटर किया जाता है। इस प्रक्रिया में बल्क डिपो पर वैक्सीन भंडारण के दौरान तापमान की भी मॉनिटरिंग करते हैं, लेकिन कोविड टीकाकरण के मद्देनजर कई महत्वपूर्ण बदलाव किए गए हैं जो सरकार को सतत और व्यापक निगरानी की क्षमता देती है। डिजिटल माध्यम से ही वैक्सीन के पहले और दूसरे डोज के लिए तारीख दिया जाएगा। डिजिटल हेल्थ मिशन के तहत यूनिक हेल्थ आईडी भी बनाया जा सकेगा, जो व्यक्ति इस डिजिटल प्लेटफार्म को चलाएंगे उनके लिए 24×7 हेल्पलाइन की सुविधा होगी।

 

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

नारी के सुहाग का प्रतीक चूड़ी

चूड़ी नारियों का एक प्रिय आभूषण होने के साथ-साथ सुहाग का प्रतीक भी है। यह नारियों के हाथों में पहुंच कर जहां उनकी सुंदरता में आगे पढ़ें »

जीवन में मान सम्मान चाहिए तो भूलकर भी न करें ये काम

चाणक्य की चाणक्य नीति कहती है कि हर व्यक्ति को मान सम्मान प्राप्त नहीं होता है। जो व्यक्ति अपने सभी कार्यों को अच्छे ढंग से आगे पढ़ें »

ऊपर