फुट ओवरब्रिज दुर्घटना मामले में 2 इंजीनियर निलम्बित

2 सेवानिवृत्त मुख्य इंजीनियरों के खिलाफ जांच के आदेश, दुर्घटनाग्रस्त पुल को गिराने का निर्णय
मुंबई : छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस रेलवे स्टेशन को जोड़ने वाले एक फुट ओवरब्रिज के गिरने के एक दिन बाद बृहन्मुंबई महा नगरपालिका ने शुक्रवार को पुल को ढहाने का फैसला लिया है। इस दुर्घटना में छह लोगों की मौत हो गयी और 31 अन्य घायल हो गये। बीएमसी आयुक्त अजॉय मेहता की अध्यक्षता वाली बैठक में यह फैसला लिया गया। मेहता ने पुल ढहने के मामले में दो निकाय इंजीनियरों को निलंबित कर दिया है। वर्ष 2017-18 में पुल का संरचनात्मक लेखा परीक्षण करने वाले अधिशासी अभियंता एआर पाटिल और 2013-14 में इसके मरम्मत कार्यों का निरीक्षण करने वाले सहायक अभियंता एसएफ काकुल्ते को निलंबित किया। उनके खिलाफ विभागीय जांच के आदेश दिये। मेहता ने तत्कालीन मुख्य अभियंता (पुल) एसओ कोरी और तत्कालीन उप मुख्य अभियंता आरबी तारे (दोनों सेवानिवृत्त) के खिलाफ भी विभागीय जांच के आदेश दिये। मालूम हो कि दक्षिणी मुंबई में एक रेलवे स्टेशन के पास गुरुवार की शाम पैदल पार पुल का बड़ा हिस्सा ढह जाने से 6 लोगों की मौत हो गयी थी, जबकि 31 अन्य घायल हो गये थे।
मुख्यमंत्री ने जिम्मेदारों के नाम बताने को कहा : महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने बृहनमुंबई नगरपालिका (बीएमसी) प्रमुख अजॉय मेहता से कहा है कि वे यह तय करें कि गुरुवार को फुटओवर ब्रिज ढहने की घटना में ‘प्राथमिक जिम्मेदारी’ किसकी है। यह चौंकाने वाली बात है कि संरचनात्मक ऑडिट के बाद भी ऐसी दुर्घटना हो सकती है। इस मामले में पहले ही उच्चस्तरीय जांच के आदेश दिये जा चुके हैं।
राकांपा की बुलेट ट्रेन परियोजना को रद्द करने की मांग : दक्षिणी मुंबई में गुरुवार की शाम पैदल पार पुल का बड़ा हिस्सा ढह जाने के एक दिन बाद राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) ने अरबों रुपयों की लागत वाली मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन परियोजना को रद्द करने की मांग की है। राकांपा के विधायक जितेंद्र अवहाद ने कहा कि उच्च गति वाली रेल परियोजना पर खर्च किए जा रहे धन को महानगरों और आसपास के उपनगरीय क्षेत्रों में रेल सुविधाओं का उन्नत करने में लगाना चाहिए। बुलेट ट्रेन परियोजना को रद्द करना राकांपा के घोषणापत्र का हिस्सा होगा और पार्टी के सत्ता में आने के एक महीने के भीतर ही इसे बंद कर दिया जायेगा। अधिकारियों द्वारा एक-दूसरे पर दोषारोपण करना इसका हल नहीं है। बुलेट ट्रेन परियोजना सिर्फ दिखावे की परियोजना है और आयकर दाताओं के धन की बर्बादी है।
मौत के लिए बीएमसी जिम्मेदार : महाराष्ट्र कांग्रेस के प्रवक्ता सचिन सावंत ने कहा कि एक साल पहले पुल की जांच में इसमें कुछ मरम्मत की सिफारिश की गयी थी लेकिन मरम्मत कार्य के लिए धन राशि कभी मंजूर नहीं की गयी। मौत के लिए सीधे सीधे बीएमसी जिम्मेदार है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ममता की हुंकार : नहीं होने देंगे एनआरसी

सागरदिघी (मुर्शिदाबाद) : राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) को लेकर राजनीतिक बहस बढ़ती ही जा रही है। बुधवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने हुंकार भरते हुए आगे पढ़ें »

डीआरआई का रेड और नोटों की बारिश

कोलकाता : महानगर के डलहौसी इलाके के बेन्टिक स्ट्रीट में बुधवार की दोपहर बाद अचानक एक कामर्शियल बिल्डिंग से नोटों की बारिश होने लगी। घटना आगे पढ़ें »

ऊपर