प्रधानमंत्री मोदी ने साधा निशाना, कहा- चुनाव जीतने के लिए गरीबों को मूर्ख बना रही कांग्रेस, राहुल पर भी बरसे

बेंगलुरूः कर्नाटक विधानसभा चुनाव का तारीख जैसे जैसे पास आता जा रहा है वैसे वैस यहां सियासी सरगर्मियां बढ़ती जा रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर से निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस चुनाव जीतने के लिए गरीब-गरीब का माला जपती है। चुनाव जीतने के बाद गरीबों को भूल जाती है। इंदिरा गांधी के जमाने से चुनाव जीतने के लिए कांग्रेस जनता को सिर्फ मूर्ख बना रही है। वह कर्नाटक के तुमकुर में एक चुनावी सभा के दौरान बोल रहे थे।
टुमकुर में रैली को संबोध‍ित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस हर चुनाव में गरीब, गरीब, गरीब के नाम की माला जपती है। मोदी ने आगे कहा कि 30-35 महीनों में हमारी सरकार ने 1 लाख करोड़ से ज्‍यादा खर्च कर किसानों तक पानी पहुंचाया है और आगे भी इसी तरह से जनता के हित में काम करती रहेगी।
देवेगौड़ा की पार्टी कांग्रेस की पक्ष में
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दावा किया कि एचडी देवेगौड़ा की पार्टी ने कांग्रेस के साथ गोपनीय समझौता किया है। चुनावी रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने कांग्रेस पर आरोप लगाया कि वोटों के लिए सालों से कांग्रेस गरीबी हटाने का वादा करती आ रही है जबकि इसने गरीबों और किसानों को नजरअंदाज किया है। प्रधानमंत्री ने कांग्रेस को इस बारे में स्‍पष्‍टीकरण मांगते हुए कहा कि बेंगलुरू में कांग्रेस का मेयर देवेगौड़ा की पार्टी के समर्थन से ही है। आप इसे क्‍यों छिपा रहे हैं? जनता के सामने सच बोलने की हिम्‍मत कांग्रेस को होनी चाहिए।
गडग में कर्नाटक सरकार पर बरसे मोदी
तुमकुर के बाद गडग में चुनावी सभा को संबोधित करने के दौरान पीएम मोदी ने कर्नाटक सरकार का घेराव करते हुए सरकार के कामकाज पर कई प्रश्न उठाए। उन्होंने कहा कि कर्नाटक की कांग्रेस सरकार केवल नामदारों के लिए काम कर रही है, कामदारों की उन्हें कोई परवाह नहीं है। पीएम ने कहा, अभी तक कर्नाटक की जनता को ये पता नहीं चला की क्या कारण था कि कर्नाटक की कांग्रेस सरकार ने कप्पट्गुडा जंगल को रिजर्व घोषित कर दिया, लेकिन भाजपा मैदान में आ गई तो यह निर्णय वापस लेना पड़ा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस केवल कर्नाटक को लूट सकती है, वे राज्य के लिए और कुछ नहीं कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि कर्नाटक में 15 मई को नतीजे आने के बाद कांग्रेस पीपीपी में बदल जाएगी, जिसका अर्थ है ‘पंजाब, पुडुचेरी, परिवार और कांग्रेस।
रैलियों में उमड़ रहा जनसैलाब
मई की शुरुआत से ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कर्नाटक में धुंआधार रैलियां कर रहे हैं। यहां तक कि पीएम की रैलियों की संख्या बढ़ाकर 21 कर दी गई है। शुरुआत में पीएम मोदी की राज्य में कुल 12 रैलियां प्रस्तावित थीं। बाद में जैसे-जैसे पीएम की रैलियों में भीड़ बढ़ती रही, वैसे-वैसे पार्टी ने रैलियों की संख्या भी बढ़ा दी। पहले यह संख्या 12 से 15 हुई, फिर 18 और अब 21 हो गई है। पीएम मोदी की रैलियों में अच्छी खासी भीड़ देखी जा रही है। ऐसे में पार्टी को उम्मीद है कि रैलियों में उमड़ रहा जनसैलाब वोट में बदलेगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सुस्त अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए सीआईआई ने बजट में की ये मांगें

नई दिल्ली : आगामी बजट में कॉन्फेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्री ने केंद्र सरकार से कॉरपोरेट टैक्स की विभिन्न दरों की जगह अप्रैल 2023 तक बिना आगे पढ़ें »

सीएए और एनआरसी को लेकर मेयर ने बोला हमला

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : मेयर और मंत्री फिरहाद हकीम ने सीएए और एनआरसी को लेकर एक बार फिर केंद्र सरकार पर हमला बोला। रविवार को रक्तदान आगे पढ़ें »

ऊपर