प्रधानमंत्री के आह्वान पर संस्कृति मंत्रालय 28 जून से 12 जुलाई तक मनायेगा ‘संकल्प पर्व’

नयी दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर संस्कृति मंत्रालय पेड़ लगाने के लिए 28 जून से 12 जुलाई तक ‘संकल्प पर्व’ मनाएगा। सरकार ने देश में स्वस्थ वातावरण और समृद्ध भारत बनाने के लिए एक पेड़ लगाकर ‘ संकल्प पर्व ’ मनाने का लोगों से आग्रह किया है। केंद्रीय संस्कृति एवं पर्यटन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) प्रह्लाद सिंह पटेल ने इस पर्व के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की इच्छा के अनुरूप कल 28 जून से 12 जुलाई तक पेड़ लगाने का लोगों का आह्वान किया।
सभी अधीनस्थ पेड़ लगाएंगे
पटेल ने बताया कि इस दौरान संस्कृति मंत्रालय के सभी अधीनस्थ कार्यालय, अकादमी, संलग्न संस्थान, संबद्ध संस्थान अपने-अपने परिसरों में या उसके आसपास पेड़ लगाएंगे। उन्होंने कहा कि मंत्रालय उन पांच पेड़ों को लगाए जाने को प्राथमिकता दे रहा है जिन्हें प्रधानमंत्री ने रेखांकित किया है और जो हमारे देश की हर्बल विरासत का सटीक प्रतिनिधित्व करते हैं। ये पेड़ हैं – ‘बरगद’ ‘आंवला’ ‘पीपल’ ‘अशोक’ और ‘बेल’। उन्होंने आगे कहा कि यदि इन वृक्षों का पौधा उपलब्ध नहीं है तो लोग अपनी पसंद के किसी अन्य पौधे का पौधारोपण कर सकते हैं।
पसंद का भी कम से कम एक पेड़
पटेल ने यह भी कहा कि मंत्रालय से संबंधित संगठनों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि प्रधानमंत्री द्वारा बताए गए इन पांच पेड़ों को लगाने के अलावा प्रत्येक कर्मचारी अपनी पसंद का भी कम से कम एक पेड़ अवश्य लगाए। संस्थानों को इसके साथ ही यह भी सुनिश्चित करना चाहिए कि कर्मचारी अवश्य ही पूरे साल अपने द्वारा लगाए गए पौधे की देखभाल करे, ताकि वह सदैव सुरक्षित और फलता-फूलता रहे।
फोटो को संस्कृति मंत्रालय के साथ साझा
पटेल ने सभी से संकल्प पत्र में भाग लेने वाले लोगों को पौधरोपण के फोटो को संस्कृति मंत्रालय के साथ साझा करने का आग्रह किया है। उन्होंने कहा, ‘ मानसून के मौसम का आगमन हो चुका है जो वृक्षारोपण या पेड़ लगाने के लिए बिल्कुल सही समय है। हम सभी इस महामारी के दौरान स्वच्छ एवं स्वस्थ पर्यावरण के विशेष महत्व से रू-ब-रू हो चुके हैं और हमें अपनी हर्बल संपदा पर काफी गर्व है जिसमें इतनी क्षमता है कि इसकी बदौलत हम महामारी के इस संकट काल में अपने जीवन को निरंतर सुरक्षित रख सकते हैं।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

आईटी व जीएसटी के छापे से परेशान हैं बंगाल के व्यवसायी

चुनावी माहौल में भाजपा के लिए पड़ सकता है भारी कोलकाता : एक तो लॉकडाउन की मार ऊपर से बिजनेस का ग्राफ डाउन। इसके बाद अब आगे पढ़ें »

सुबह-सुबह पैसे का गिरना या मिलना शुभ होता है या अशुभ, ऐसे पहचानें ये संकेत

कोलकाता : जीवन में पैसे का महत्व किसी से आज के दौर में छिपा नहीं है, ऐसे में आज के दौर में व्यक्ति कठीन से आगे पढ़ें »

ऊपर