पूर्व चीफ जस्टिस हुए ऑनलाइन ठगी के शिकार

नई दिल्लीः ऑनलाइन लेन-देन के तौर-तरीकों ने भले ही जीवन को आसान बना दिया हो, लेकिन इसके ठगी के मामलों की संख्या दिन-ब-दिन बढ़ती ही जा रही है। आजकल पूरे देश में रोजाना ऑनलाइन ठगी के मामले सुर्खियों में रहते हैं। हालात ये हो गए हैं कि सुप्रीम कोर्ट के पूर्व मुख्य न्यायाधीश (सीजेआई) भी ऑनलाइन ठगी का शिकार होने से नहीं बच सके हैं।
ईमेल हैक कर फर्जीवाड़ा किया गया
पुलिस ने रविवार को बताया कि पूर्व सीजेआई आरएम लोढ़ा से एक लाख रुपए ऑनलाइन ठगी की गई है। पूर्व सीजेआई के एक दोस्त का ईमेल हैक कर उनके साथ यह फर्जीवाड़ा किया गया। मामला शनिवार को सामने आया, जब न्यायाधीश लोढ़ा मालवीय नगर पुलिस स्टेशन में सहायक पुलिस आयुक्त ईओडब्ल्यू (आर्थिक अपराध प्रकोष्ठ) और साइबर सेल में शिकायत दर्ज करने पहुंचे।
हैकर की पहचान के लिए जांच जारी
शिकायत में लोढ़ा ने कहा “19 अप्रैल को मुझे जस्टिस बीपी सिंह का ईमेल मिला। इसमें उन्होंने कहा था कि उनके भाई के इलाज के लिए तत्काल एक लाख रुपए की जरूरत है। उनका फोन भी नहीं लग रहा था । मैंने दिए गए अकाउंट नंबर पर फौरन एक लाख रुपए भेज दिए ।’’30 मई को न्यायाधीश सिंह ने जस्टिस लोढ़ा को ईमेल हैक होने की जानकारी दी । इसके बाद उन्हें अपने साथ हुए ऑनलाइन फर्जीवाड़े का अहसास हुआ। सिंह के सुझाव पर लोढ़ा ने दिल्ली पुलिस में शिकायत की जिसके बाद दिल्ली पुलिस ने धोखाधड़ी और आईटी अधिनियम समेत आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है। हैकर की पहचान के लिए जांच जारी है।

बता दें कि 69 वर्षीय लोढ़ा भारत के 41वें सीजेआई रहे । उनकी नियुक्ति तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी नेकी थी । इससे पहले वह पटना हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश थे। लोढ़ा ने राजस्थान और बॉम्बे हाईकोर्ट में भी जज के रूप में अपनी सेवाएं दी है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बंगाल में आए 368 नये संक्रमण के मामले, 10 लोगों की आज फिर हुई मौत

कोलकाता : बंगाल में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 368 नये मामले दर्ज किये गये है। इस दौरान 10 लोगों की संक्रमण आगे पढ़ें »

कुलपति परिषद ने राज्यपाल धनखड़ के पत्र पर जताई आपत्ति

कोलकाता : पश्चिम बंगाल कुलपति परिषद ने राज्यपाल जगदीप धनखड़ द्वारा राज्य के विश्वविद्यालयों के कुलपतियों को लिखे गए उस पत्र पर आपत्ति जताई जिसमें आगे पढ़ें »

ऊपर