पाक ने माना पीओके भारत का

नयी दिल्ली : पाकिस्तान सरकार ने आखिरकार पाकिस्तान के कब्जे वाले गुलाम कश्मीर को भारत का हिस्सा मान लिया है। पाकिस्तानी सरकारी की आधिकारिक कोविड डॉटगाेवडॉटपीके में दिखाये गये मानचित्र में गुलाम कश्मिर को पूरी तरह से भारत का हिस्सा दिखाया गया है। बतातें चलें कि पाकिस्तान ने पीओके को अब तक कोई देश और प्रांत नहीं माना है।
अब तक नहीं माना कोई देश और न ही प्रांत
पाकिस्तान सरकार एक तरफ दावा करती हैं कि उसे कश्मीर के लोगों की फिक्र है, वहीं उसने अभी तक इस कब्जाए हुए क्षेत्र को न कोई देश माना है, न ही प्रांत। यहां केवल कठपुतली सरकार, प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति बनाए जाते हैं। वहां की जनता इसलिए भी नाराज है, क्योंकि पाकिस्तान चीन की कठपुतली बन गया है। चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे के कारण वहां बड़ी संख्या में चीनी बस जाएंगे, जिससे उनकी रोटी-रोजी प्रभावित होगी।
पीओके के लिए हो चुका है प्रस्ताव पास
पीओके के लिए नरसिंह राव सरकार के कार्यकाल में संसद में सर्वसम्मति से प्रस्ताव भी पास हो चुका है, लेकिन उस पर अभी तक अमल नहीं हुआ। इसलिए विश्व के प्रमुख देशों को अपने फैसले से अवगत कराने के साथ-साथ सरकार को पीओके के आम नागरिकों के उत्पीड़न का मसला जोर-शोर से उठाना चाहिए। यही नहीं, पाक अधिकृत कश्मीर को वापस लेना उसका अगला एजेंडा होना चाहिए।
पीओके के नागरिक कर रहे हैं आजादी की मांग
पाक अधिकृत कश्मीर को, जिस पर उसने 1947 में हमला करके कब्जा लिया था, कब्जे से कैसे वापस लाया जाए। पाक अधिकृत कश्मीर के अधिकांश नागरिक भी पाकिस्तान से तंग आ चुके हैं और आजादी की मांग कर रहे हैं।
संसाधनों और धन का इस्तेमाल आतंकी शिविरों में
हाल ही में जिनेवा स्थित संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के 41वें सत्र के दौरान यूरोप और ब्रिटेन में रह रहे पीओके के लोगों ने पाक के खिलाफ प्रदर्शन करके उसकी पोल खोल दी है। उनका आरोप है कि पाकिस्तानी अधिकारी इलाके के संसाधनों और धन का इस्तेमाल तेजी से बढ़ रहे आतंकी शिविरों में कर रहे हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

शाह ने हैदराबाद नगर निगम के चुनाव प्रचार के दौरान रोड शो किया

कहा-इस बार हैदराबाद का मेयर भाजपा से होगा हैदराबाद : केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को ऐतिहासिक चारमीनार के समीप स्थित भाग्यलक्ष्मी मंदिर में आगे पढ़ें »

वाजिद की पत्नी ने जबरन धर्म परिवर्तन के लिए दबाव बनाने का लगाया आरोप, कंगना ने प्रधानमंत्री से पूछा सवाल

मुंबई: कंगना रनौत अपनी एक टिप्पणी की वजह से फिर सुर्खियों में हैं। इस बार उन्होंने पारसी लोगों के बारे में टिप्पणी की है। कंगना आगे पढ़ें »

ऊपर