पांच राज्यों में बाढ़ से 537 मृत, लाखों बेघर

नयी दिल्ली : इस बार मानसून आने के बाद से जारी बारिश से पांच राज्यों में आयी बाढ़ और वर्षा जनित घटनाओं में अब तक कम से कम 537 लोगों की मौत हो चुकी है। राजधानी दिल्ली में यमुना का जल स्तर खतरे के निशान के ऊपर पहुंच गया है। उत्तराखंड में लगातार बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया और भूस्खलन से कई सड़कें बाधित रहीं जबकि हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले में किन्नर कैलास की पहाड़यिों में आयी बाढ़ में एक महिला श्रद्धालु सहित तीन लोग बह गये।
गृह मंत्रालय के नेशनल इमरजेंसी रिस्पांस सेंटर (एनईआरसी) के अनुसार बाढ़ एवं बारिश के चलते महाराष्ट्र में 138, केरल में 125, पश्चिम बंगाल में 116, गुजरात में 52 और असम में 34 लोगों की मौत हुई है। अतिवृष्टि और बारिश से महाराष्ट्र के 26, पश्चिम बंगाल में 22, असम में 21, केरल में 14 और गुजरात में 10 जिले प्रभावित हैं। एनईआरसी के अनुसार असम में 10.17 लाख लोग बारिश एवं बाढ़ से त्रस्त हैं जिनमें से 2.17 लाख लोग राहत शिविरों में शरण लिये हुए हैं। राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की 12 टीम असम में राहत एवं बचाव कार्य में जुटी है। देहरादून से प्राप्त रपट के अनुसार उत्तराखंड में अगले 72 घंटे में राज्य के अधिकतर हिस्से में भारी बारिश का अनुमान जताया है और हिमालयी राज्य में आने वाले श्रद्धालुओं से सतर्क रहने को कहा है। ऋषिकेश-गंगोत्तरी राष्ट्रीय राजमार्ग थेरांग, लालधांग और नालुपानी में बाधित हैं जबकि दिल्ली-यमुनोत्तरी राजमार्ग काडिखाल, सिलेसु और लखवाड़ में बाधित है। खारसुन में बरकोट-विकासनगर मार्ग बाधित है। हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले में किन्नर कैलास की पहाड़ियों में गत शुक्रवार को तेज बारिश के बाद आयी बाढ़ में एक महिला श्रद्धालु सहित तीन लोग बह गये।
दिल्ली में मौजूदा स्थिति को देखते हुए अधिकारियों ने बाढ़ जैसी स्थिति को रोकने के लिए उचित कदम उठाने का परामर्श जारी किया है। हथिनीकुंड बैराज पर यमुना नदी का जलस्तर 90,000 क्यूसेक के खतरे के निशान को पार कर शनिवार सुबह नौ बजे 2.11 लाख क्यूसेक तक पहुंच गया। पश्चिमी उत्तर प्रदेश और इसके पड़ोसी राज्यों के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

hongkong

हांगकांग ‘लोकतंत्र अधिनियम’ पारित, चीन ने दी कड़ी प्रतिक्रिया

वाशिंगटन : हांगकांग में लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनकारियों की मांग वाले एक विधेयक को अमेरिकी प्रतिनिधि सभा ने मंगलवार को पारित कर दिया, जिसका उद्देश्य उस आगे पढ़ें »

रतन टाटा खुद को मानते हैं ‘एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक’, कई बड़ी कंपनियों में है हिस्सेदारी

नई दिल्ली : उद्योगपति और टाटा समूह के चेयरमैन रतन टाटा ने खुद को 'एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक' माना है। उन्होंने दर्जनभर से ज्यादा स्टार्टअप कंपनियों आगे पढ़ें »

court

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने 40 दिन की सुनवाई के बाद फैसला सुरक्षित रखा

ayodhya

अयोध्या मामला : मुस्लिम धर्मगुरुओं ने कहा, शीर्ष न्यायालय के फैसले को स्वीकार किया जाना चाहिए

अमेरिकी प्रतिबंधों के पालन के लिए भारत अपना नुकसान नहीं करेगा: वित्त मंत्री

russia

तुर्की और सीरिया की लड़ाई में रूस बना दीवार, तैनात की अपनी आर्मी

sitaraman

अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद ‘मानवाधिकार’ विश्व स्तर पर ज्वलंत शब्द बन गया : सीतारमण

chetak

बजाज ने पेश किया इलेक्ट्रिक चेतक स्कूटर, सामने आया पहला लुक

rail

रेलवे ने शुरू की नई योजना, अब फिल्म प्रमोशन के लिए हो सकेगी ट्रेनों की बुकिंग

modi

पीएम मोदी बोले- राष्ट्र निर्माण का आधार है सावरकर के संस्कार

ऊपर