पर्यावरण नियमों को नहीं मानने वालों को खामियाजा भुगतना होगा : जावड़ेकर

नयी दिल्ली : पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने जैव विविधता के संरक्षण के लिए शुक्रवार को कईं कार्यक्रमों की शुरुआत की तथा कहा कि पर्यावरण नियमों का उल्लंघन करने वालों को इसका खामियाजा भुगतना होगा। ‘अंतर्राष्ट्रीय जैव विविधता दिवस’ के मौके पर एक वेबीनार में प्रकाश जावड़ेकर ने स्नातकोत्तर छात्रों के लिए एक इंटर्नशिप कार्यक्रम, दो जागरूकता कार्यक्रमों और एक मॉडेल कॉप (कॉन्फ्रेंस ऑफ पार्टीज) की शुरुआत की तथा जैवविविधता वेबीनार शृंखला का एक बुकलेट लॉंच किया। मॉडल कॉप में हिस्सा लेने वाली एक छात्रा के प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि आम लोग भी पर्यावरण नियम नहीं मानने वाली कंपनियों की पोल खोलकर पर्यावरण तथा जैव विविधता के संरक्षण में योगदान दे सकते हैं। इस संदर्भ में अपने राजनीतिक जीवन की एक घटना का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा, ‘जो लोग नियमों का उल्लंघन करने की कोशिश करते हैं उन्हें इसकी कीमत चुकानी होगी।’ इस मॉडल कॉप में 28 राज्यों और सात केंद्रशासित प्रदेशों के 36 विद्यालयों के 72 छात्र हिस्सा ले रहे थे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

हृदय रोग और होम्योपैथी

भारत में पिछले वर्ष विश्व के 60 प्रतिशत हृदय रोग के मामले पाए गए थे। अध्ययन में देखा गया है कि पिछले दशक के दौरान आगे पढ़ें »

ट्रेन दुर्घटना में 2 साल पहले हाथ गंवाने वाली युवती को मिला नया हाथ

मुंबई : रेल दुर्घटना में हाथ गंवा चुकी महाराष्ट्र की मोनिका मोरे का हाथ प्रतिरोपित कर अस्पताल से छुट्टी दे दी गयी है। मामूम हो आगे पढ़ें »

ऊपर