पठानकोट में होगा कठुआ गैंगरेप-हत्या केस का ट्रायल

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू-कश्मीर के कठुआ गैंगरेप और हत्या मामले को पंजाब के पठानकोट ट्रांसफर कर दिया है। साथ ही कहा है कि मुकदमे की सुनवाई अदालत के बंद कमरे में होनी चाहिए। शीर्ष अदालत ने मामले में किसी देरी से बचने के लिये दैनिक आधार पर फास्ट ट्रैक सुनवाई करने का भी निर्देश दिया। शीर्ष अदालत ने यह भी कहा कि इस मुकदमे की सुनवाई जम्मू कश्मीर में लागू रणबीर दंड संहिता के प्रावधानों के अनुरूप की जायेगी। न्यायालय ने कहा कि मुकदमे की सुनवाई आरोपियों और पीड़ित परिवार के लिये पूरी तरह निष्पक्ष होनी चाहिए।
अदालत इस संदर्भ में आदेश पारित नहीं करेगी
सुप्रीम कोर्ट ने कहा ‘मामला उसके पास है। कोई और अदालत इस संदर्भ में आदेश पारित नहीं करेगी। मामले में पीड़ित के परिजनों और उसके मामले की पैरवी कर रही वकील की सुरक्षा बरकरार रहेगी।’ कोर्ट ने केस की सुनवाई पर लगाई गई रोक भी हटा ली। सुप्रीम कोर्ट ने 27 अप्रैल को मुकदमे पर रोक लगा दी थी। अदालत ने यह रोक आरोपियों से मुकदमे को चंडीगढ़ स्थानांतरित करने की याचिका पर जवाब देने को लेकर लगाई थी।
कैप्टन ने सुरक्षा बढ़ाने का दिया आश्वासन
सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा है कि सुरक्षा प्रमुख मुद्दा है, हम पठानकोट में पर्याप्त सुरक्षा की व्यवस्था करेंगे।
पीड़ित परिवार ने क्यों की ट्रांसफर की मांग?
पीड़ित परिवार ने केस को जम्मू-कश्मीर से अलग दूसरे राज्य में ट्रांसफर करने की मांग की थी। जम्मू-कश्मीर सरकार केस को ट्रांसफर करने का विरोध किया था। सरकार की दलील थी की उसके पास एक अलग दंड संहिता है और मुकदमे के स्थानांतरण (ट्रांसफर) से गवाहों को असुविधा होगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

modi

परीक्षा पे चर्चा : पीएम मोदी ने छात्रों को विफलता से निपटने का दिया गुरूमंत्र

नयी दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को ‘परीक्षा पे चर्चा 2020’ कार्यक्रम में छात्रों को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने छात्रों को कहा आगे पढ़ें »

सुस्त अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए सीआईआई ने बजट में की ये मांगें

नई दिल्ली : आगामी बजट में कॉन्फेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्री ने केंद्र सरकार से कॉरपोरेट टैक्स की विभिन्न दरों की जगह अप्रैल 2023 तक बिना आगे पढ़ें »

ऊपर