इंटरपोल को धोखा दे रद्द भारतीय पासपोर्ट पर अमेरिका घूम आया नीरव मोदी

नयी दिल्ली : देश का बहुचर्चित बैक घोटाला जिसमें पंजाब नेशनल बैंक से 13000 करोड़ का गबन हुआ तथा जिस घोटाले ने देश के बैंकिंग उद्याेग के साख पर प्रश्‍नचिन्‍ह लगा दिया के मुख्‍य अभियुक्‍त तथा भगोड़े हीरा व्‍यवसायी नीरव मोदी ने ब्रिटिश प्रशासन और इंटरपोल को धोखा दे फरवरी महीने में अमेरिका घूम आया। नीरव ने ऐसा तब किया जब उसके नाम पर इंटरपोल का रेड कॉर्नर नोटिस जारी था। नीरव मोदी की इस अमेरिका यात्रा से भारतीय एजेंसियों ने ब्रिटिश प्रशासन की कार्यप्रणाली पर आपत्त‍ि जताई है। उन्‍होंने ब्रिटिश प्रशासन ने पूछा कि इंटरपोल के रेड कॉर्नर नोटिस और रद्द पासपोर्ट के बावजूद उसे अमेरिका जाने की अनुमति कैसे मिली। जबकि नियमानुसार, जब भी किसी के नाम पर रेड कॉर्नर नोटिस जारी होता है, तब उसे किसी भी देश की इमीग्रेशन अफसर हिरासत में ले सकते हैं। हालांकि अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि नीरव मोदी कैसे अमेरिका गया। भारतीय एजेंसियों के पास नीरव मोदी की यात्रा की विस्तृत जानकारी है, इसमें उसका टिकट भी है। इन दस्तावेजों का उपयोग बतौर सबूत तब किया जाएगा जब वह कोर्ट में जमानत के लिए अर्जी डालेगा। उल्‍लेखनीय है कि वेस्टमिंस्टर कोर्ट ने नीरव मोदी को 26 अप्रैल तक जेल भेज दिया है। भारतीय एजेंसियां लगातार इस प्रयास में हैं कि ब्रिटेन से नीरव मोदी का प्रत्यर्पण कर उसे भारत लाया जाए। लंदन की अदालत में उसके प्रत्यर्पण का मुकदमा चल रहा है। अदालत ने नीरव मोदी की हिरासत 26 अप्रैल तक बढ़ा दी है, जज ने कहा कि नीरव मोदी की वजह से बैंक को बड़ा नुकसान हुआ है। साथ ही नीरव मोदी ने इस मामले से जुड़े सबूत भी नष्ट किए हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

वेस्टइंडीज जीत के करीब, इंग्लैंड ने दूसरी पारी में 313 रन बनाए

साउथैम्पटन : इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में वेस्टइंडीज जीत की ओर है। मैच के पांचवें दिन टी ब्रेक तक मेहमान टीम ने 4 विकेट के आगे पढ़ें »

पगबाधा का फैसला सिर्फ और सिर्फ डीआरएस से हो : तेंदुलकर

नयी दिल्ली : महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने अंपायरों के फैसलों की समीक्षा प्रणाली (डीआरएस) से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) को ‘अंपायर्स कॉल’ को हटाने आगे पढ़ें »

ऊपर