नीतीश ने पवन वर्मा को दिया झटका, कहा- जो दल पसंद हो वहां जा सकते हैं, मेरी शुभकामनाएं

पटना : बिहार के मुख्यमंत्री और जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के अध्यक्ष नीतीश कुमार ने गुरुवार को स्पष्ट कह दिया है कि सीएए पर पार्टी की विचारधारा से अलग सोच रखने वाले जेडीयू सदस्य किसी भी पार्टी में शामिल होने के लिए स्वतंत्र हैं। नीतीश ने पार्टी नेता पवन वर्मा की चिट्ठी का करारा जवाब देते हुए कहा कि उन्हें जो भी दल पसंद हो, वहां जा सकते हैं। उन्हें मेरी शुभकामनाएं हैं। लेकिन सार्वजनिक रूप से उनकी बयानबाजी को सही नहीं माना जा सकता। अगर पार्टी के किसी नेता के मन में कोई विचार हो तो उसे बातचीत करनी चाहिए। बता दें कि जदयू नेता पवन वर्मा भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के साथ पार्टी के गठबंधन को लेकर लगातार आवाज उठाते रहे हैं। उन्होंने नीतीश कुमार के सीएए पर बहस वाले बयान का स्वागत करते हुए उन्हें चिट्ठी लिखी थी और कहा था कि जवाब आने के बाद ही वे तय करेंगे कि पार्टी में रहना है या‌ नहीं।

पवन और प्रशांत के बयानों से जदयू को नहीं पड़ता फर्क
मालूम हो कि पटना में जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने पार्टी के बागी नेता पवन वर्मा और प्रशांत किशोर पर निशाना साधते हुए कहा था कि शायद दोनों नेताओं ने अपना अलग रास्ता बना लिया है। दोनों नेता पार्टी की विचारधाराओं और नीतियों के खिलाफ जाकर लगातार बयानबाजी कर रहे हैं। लेकिन पार्टी को इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। इसके साथ ही उन्होंने दोनों के खिलाफ पार्टी की ओर से कड़े कदम उठाए जाने के भी संकेत दिए थे।

प्रशांत ने एनआरसी को लेकर नीतीश से की थी बातचीत
मालूम हो कि जेडीयू नेता पवन वर्मा ने राज्य के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के उस बयान की खुलेआम आलोचना की थी, जिसमें मई से सितंबर के दौरान बिहार में राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) लागू करने का ऐलान किया गया था। इसके अलावा जनता दल यूनाइटेड के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर भी कई बार पार्टी की विचारधारा के खिलाफ बयान दे चुके हैं। प्रशांत ने सबसे पहले राष्‍ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) को लेकर मुद्दा उठाया था। उन्होंने इस पर नीतीश कुमार के साथ बातचीत भी की जिसमें यह तय किया गया कि राज्य में एनआरसी लागू नहीं होगा। इसके बाद प्रशांत किशोर ने सीएए के विरोध में बोलना शुरू कर दिया और कहा कि सीएए को बिहार में लागू नहीं होने दिया जाएगा। हालांकि सीएए के मुद्दे पर नीतीश कुमार ने विधानसभा में यह साफ कह दिया है कि वे सदन में बहस के ‌लिए तैयार हैं। बता दें कि दिल्ली विधानसभा में भी जनता दल यूनाइटेड का बीजेपी के साथ चुनावी गठबंधन है। वह दो सीटों पर चुनाव लड़ रही है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

एशियाई कुश्ती चैम्पियनशिप में भारतीय महिला पहलवानों का दबदबा, तीन स्वर्ण झटके

नयी दिल्ली : दिव्या काकरान, सरिता मोर और पिंकी ने गुरूवार को यहां अपने वजन वर्गों में स्वर्ण पदक अपने नाम किये जिससे भारत ने आगे पढ़ें »

टी20 विश्व कप में आस्ट्रेलिया के खिलाफ अभियान का आगाज करेगी भारतीय महिला टीम

सिडनी : पहली आईसीसी ट्राफी जीतने के सपने संजोने वाली भारतीय महिला क्रिकेट टीम टी20 विश्व कप के शुरूआती मैच में शुक्रवार को आस्ट्रेलियाई चुनौती आगे पढ़ें »

ऊपर