नहीं रहे कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री बूटा सिंह

नयी दिल्ली: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री बूटा सिंह (86) का लंबी बीमारी के बाद आज शनिवार सुबह 5.30 बजे निधन हो गया। पिछले साल मष्तिकाघात के बाद उन्हें अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में भर्ती कराया गया था और वह गत वर्ष अक्टूबर महीने से कोमा में थे। बूटा सिंह ने अपने लंबे राजनीतिक जीवन में केंद्रीय गृह मंत्री समेत कई महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां निभाईं। इसके साथ ही वह बिहार के राज्यपाल और राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष भी रहे। वह आठ बार लोकसभा के सदस्य निर्वाचित हुए।
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और कई अन्य नेताओं ने बूटा सिंह के निधन पर दुख जताया व उनके परिवार के प्रति संवेदना प्रकट की। राष्ट्रपति ने ट्वीट किया कि बूटा सिंह के निधन से देश ने लंबे समय तक सेवा करने वाले सांसद और विशाल प्रशासनिक अनुभव रखने वाला व्यक्ति खो दिया है। वह शोषितों और वंचितों की लड़ाई लड़ने वाले चैम्पियन थे। प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर कहा कि बूटा सिंह एक अनुभवी प्रशासक और गरीबों के साथ-साथ वंचित वर्ग के कल्याण के लिए प्रभावी आवाज थे। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने ट्वीट किया कि पूर्व सांसद बूटा सिंह समाज के वंचित-अभावग्रस्त वर्ग की सशक्त आवाज थे। राहुल ने ट्वीट किया कि सरदार बूटा सिंह के देहांत से देश ने एक सच्चा जनसेवक और निष्ठावान नेता खो दिया है। उन्होंने अपना पूरा जीवन देश की सेवा और जनता की भलाई के लिए समर्पित कर दिया। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने कहा कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री सरदार बूटा सिंह ने समाज के हर तबके की उन्नति के लिए काम किया। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला और पार्टी के कई अन्य नेताओं ने भी बूटा सिंह के निधन पर दुख जताया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सोमवार के दिन करेंगे यह 5 काम, शिव कृपा से होगा धन का अपार वास

1.सोमवार यानी भगवान शिव का दिन और सोम यानी चंद्रमा का दिन। तो इस दिन सुबह उठकर आप भगवान शिव के दर्शन कर शिव चालीसा आगे पढ़ें »

नारी के सुहाग का प्रतीक चूड़ी

चूड़ी नारियों का एक प्रिय आभूषण होने के साथ-साथ सुहाग का प्रतीक भी है। यह नारियों के हाथों में पहुंच कर जहां उनकी सुंदरता में आगे पढ़ें »

ऊपर