नवाब मलिक को मानहानि के एक मामले में मिली जमानत

मुंबई: मुंबई की एक मजिस्ट्रेट अदालत ने सोमवार को महाराष्ट्र के मंत्री एवं राकांपा नेता नवाब मलिक को मानहानि के एक मामले में जमानत दे दी। मानहानि का यह मामला भाजपा की युवा शाखा की मुंबई इकाई के पूर्व प्रमुख मोहित कम्बोज भारतीय ने दायर किया है। मझगांव मजिस्ट्रेट अदालत ने 15,000 रुपये के निजी मुचलके पर मलिक को जमानत दी।
अदालत ने इस महीने की शुरुआत में मोहित भारतीय की आपराधिक मानहानि शिकायत पर नवाब मलिक को नोटिस जारी किया था। मोहित ने आरोप लगाया है कि राकांपा नेता ने पिछले महीने एक क्रूज जहाज पर स्वापक नियंत्रण ब्यूरो (एनसीबी) की छापामारी के बाद उनकी और उनके एक करीबी रिश्तेदार की मानहानि की। मजिस्ट्रेट के समक्ष दर्ज शिकायत में मोहित ने दावा किया था कि नवाब मलिक ने एनसीबी के छापे और बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान सहित कई लोगों की गिरफ्तारी पर 9 अक्टूबर को संवाददाता सम्मेलन कर इरादतन उनका (मोहित भारतीय का) और उनके करीबी रिश्तेदार ऋषभ सचदेव की मानहानि की थी। उन्होंने भारतीय दंड संहिता की धारा 499 एवं 500 (मानहानि) के तहत कथित अपराध करने को लेकर मलिक के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी। अदालत इस मामले में अब 30 दिसंबर को आगे सुनवाई करेगी।
मलिक को ट्वीट करने से रोकने से इनकार संबंधी आदेश निरस्त : बंबई हाई कोर्ट ने नॉरकोटिक्स नियंत्रण ब्यूरो (एनसीबी) के जोनल निदेशक समीर वानखेड़े और उनके परिवार के खिलाफ सार्वजनिक बयान देने से नवाब मलिक पर रोक लगाने से इनकार करने संबंधी एकल पीठ का आदेश सोमवार को निरस्त कर दिया।
न्यायमूर्ति एस जे कथावाला और न्यायमूर्ति मिलिंद जाधव के खंडपीठ ने एकल पीठ का 22 नवंबर का आदेश निरस्त किया। पीठ ने अपने आदेश में कहा कि ज्ञानदेव वानखेडे़ की अंतरिम आवेदन पर सुनवाई होने तक नवाब मलिक वानखेड़े परिवार के खिलाफ कोई भी सार्वजनिक बयान या ट्विट नहीं करेंगे।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

देगंगा में एक ही रात 5 घरों में चोरी से मचा हड़कंप

बारासात : बारासात अंचल के देगंगा थाना अंतर्गत पूर्व चांगदान इलाके में एक ही रात 5 घरों में चोरी होने से हड़कंप मच गया। मिली आगे पढ़ें »

ऊपर