नक्सलियों की सच्चाई पर पुलिस बना रही है फिल्म, एसपी खुद बने हीरो

दंतेवाड़ा : दंतेवाड़ा पुलिस नक्सलियों की सच्चाई पर एक शॉर्ट फिल्म बना रही है। ‌जिसके जरिए युवाओं को नक्सलियों की हकीकत के बारे में बताया जायेगा। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस फिल्म के पटकथा लेखक एवं गीतकार दंतेवाड़ा में ही पदस्थ एएसपी सूरज सिंह परिहार हैं। वहीं कलाकार की भूमिकाओं में भी पुलिस के ही 100 जवान और आत्मसमर्पण कर चुके नक्सली नजर आएंगे। फिल्म का नाम ‘नई सुबह का सूरज’ रखा गया है।

10 मिनट की शॉर्ट-फिल्म

फिल्म ‘नई सुबह का सूरज’ करीब 10 मिनट की इस शॉर्ट-फिल्म है, जो नक्सलवाद की सच्ची घटनाओं पर आधारित है। सूत्रों की माने तो इस फिल्म की शूटिंग के लिए भिलाई एवं रायपुर से जवानों की एक टीम दंतेवाड़ा बुलाई गयी है। साथ ही दंतेवाड़ा जिला पुलिस बल और डिस्ट्रिक्ट रिजर्व ग्रुप (डीआरजी) के जवानों के सथा आत्मसमर्पण कर चुके नक्सली भी इस फिल्म में अभिनय करते नजर आएंगे। वहीं पुलिस अधीक्षक (एसपी) के किरदार में खुद एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव दिखेंगे। इसकी शूटिंग की शुरुआत कारली के घने जंगल से होते हुए दंतेवाड़ा की अलग-अलग जगहों पर भी की जायेगी।

नक्सलियों का होगा मुख्य किरदार

इस फिल्म में मुख्य किरदार नक्सलियों का है, जिसमें नक्सलियों के सबसे बड़े नेता गणपति, हिड़मा और हुंगी मुख्य किरदार में नजर आएंगे। गणपति के किरदार के लिए भिलाई के कलाकारों को बुलाया गया है। ऐसा इसलिए कि नक्सलियों के बड़े लीडर्स दंतेवाड़ा से बाहर के होते हैं।

स्कूलों में बांटी जाएगी फिल्‍म

पल्लव के अनुसार अब तक नक्सलवाद के बारे में बाहरी लोग ही लिखते या फिल्म बनाते रहे हैं। लिहाजा फिल्म यथास्थिति से दूर हो जाती है। पर अब बस्तर के लोग ही फिल्म बना रहे हैं। इस फिल्म मेंनक्सल संगठन की खींचतान और हकीकत बताने वाली बातों का समावेश‌ दिखाया गया है। फिल्म बनने के बाद पेन ड्राइव द्वारा गांवों, स्कूलों, आश्रमों, पंचायतों तथा लोगों को देखने के लिए दी जायेगी, क्योंकि नक्सली अब तक ग्रामीणों और बच्चों का ब्रेनवाश करते आए हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

समस्तीपुर में 45, पांच विधानसभा क्षेत्र में 49.90 प्रतिशत वोटिंग

राज्य में शांतिपूर्वक रहा उप चुनाव, राज्य निर्वाचन कार्यालय ने स्पष्ट किए आंकड़े पटनाः बिहार में एक लोकसभा सीट और पांच विधानसभा क्षेत्र पर कराया गया आगे पढ़ें »

एम्स निर्माण कार्य में तेजी लाने का निर्देश

केंद्रीय मंत्री चौबे ने समीक्षा बैठक की, 2020 तक कार्य पूरा करने का अल्टीमेटम दिया नयी दिल्ली/रांचीः झारखंड में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के निर्माण आगे पढ़ें »

ऊपर