देह व्यापार में शामिल समुदाय और बच्चियों की मैपिंग कराये राज्य सरकारें : एनसीपीसीआर

नई दिल्ली : देश के कुछ इलाकों में पारंपरिक रूप से देह व्यापार में शामिल समुदायों और परिवारों की पहचान करने के लिये राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (एनसीपीसीआर) ने राज्य सरकारों से कहा है कि वे इन्हें इस दलदल से निकालने के लिये मैपिंग करायें।
‘राष्ट्रीय बालिका दिवस’ के मौके पर एनसीपीसीआर ने ‘पारंपरिक रूप से देह व्यापार में लगे समुदायों’ की स्थिति पर एक रिपोर्ट जारी की है जिसमें देश के कुछ हिस्सों में कुछ ऐसी जातियों का उल्लेख किया गया है जिनके यहां लड़कियों का ‘देह व्यापार’ में जाना एक परंपरा सी बनी हुई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि दिल्ली, गुजरात, मध्य प्रदेश और राजस्थान में इस तरह की जातियां हैं। इन्हें कहीं ‘नट’, कहीं ‘पेरना’ तो कहीं ‘बेड़िया’ के नाम से जाना जाता है। एनसीपीसीआर की रिपोर्ट में कहा गया है, ‘‘पारंपरिक रूप से देह व्यापार में शामिल समुदायों और बच्चियों की पहचान के लिए राज्य सरकारें मैपिंग कराएं, ऐसे परिवारों की संख्या और उनकी सामाजिक-आर्थिक स्थिति के बारे में पता किया जाए।’’
आयोग की अध्यक्ष प्रियंका कानूनगो ने कहा, ‘‘पहली बात यह है कि हमारे समाज में यह स्वीकार नहीं किया जाता कि इस तरह की समस्या है जिसमें लड़कियों को परंपरा के नाम पर देह व्यापार में धकेल दिया जाता है। इसलिए हम चाहते हैं कि राज्य सरकारें पूरी स्थिति का पता करने के लिए मैपिंग कराएं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘एक बार पूरी स्थिति का पता चल जाने के बाद सभी लोग मिलकर इनके पुनर्वास के लिए कदम उठा सकेंगे। हम राज्य सरकारों को यह रिपोर्ट भेज रहे हैं और आशा करते हैं कि वे इस पर गंभीरता से कदम उठाएंगी।’’

शेयर करें

मुख्य समाचार

sara ali khan

सारा अली खान बनी सबसे ज्यादा कमाई करने वाली नयी अभिनेत्री

मुबंई : बॉलीवुड अभिनेत्री सारा अली खान ने दो ही फिल्मों ''केदारनाथ और सिम्बा'' में लोगो पर जादू कर दिया है। इसके अलावा सारा और आगे पढ़ें »

kisan march

यूपी के किसान अपनी मांग को लेकर दिल्ली पहुंचे, पुलिस हाई अलर्ट पर

नई दिल्‍ली : उत्तर प्रदेश के किसान अपनी मांगों को लेकर शनिवार को दिल्ली में प्रदर्शन करेंगे। भारतीय किसान संगठन के नेतृत्व में हजारों की आगे पढ़ें »

ऊपर