दिवंगत पिता के ताबूत को एकटक देखती रहीं जनरल रावत की बेटियां

कुन्नूर के हेलिकॉप्टर हादसे में शहीद हुए CDS जनरल बिपिन रावत और पत्नी मधुलिका समेत 13 लोगों के पार्थिव शरीर गुरुवार रात नई दिल्ली के पालम एयरपोर्ट लाए गए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बाकी लोगों के साथ शहीदों के परिजन भी यहां मौजूद थे। माहौल बेहद गमगीन था। हर आंख नम थी। जनरल रावत की बेटियां ताबूत में रखे पिता की पार्थिव देह को एकटक निहारती रहीं। माहौल तब बेहद गमगीन हो गया जब इसी हादसे में शहीद ब्रिगेडियर एलएस लिद्दर की बेटी आश्ना पिता के कॉफिन के पास पहुंचीं। कुछ पल देखती रही और फिर झुककर उनके ताबूत को चूम लिया। रात करीब 8 बजे शहीदों के पार्थिव शरीर सम्मान के साथ पालम एयरपोर्ट पर लाए गए। इस दौरान वहां मौजूद उनके परिजन एकटक उन्हें निहारते रहे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

माल हादसे के बाद महानगर के विसर्जन घाटों में बढ़ी सुरक्षा

पूजा आयोजकों को नहीं है नदी में जाने की अनुमति सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : विजयादशमी के शाम जलपाईगुड़ी के माल नदी में हरपा बान में आठ लोगों आगे पढ़ें »

महापंचमी से लेकर विजय दशमी तक मेट्रो में 39.2 लाख यात्री हुए सवार

कोलकाता : दुर्गापूजा पर इस बार यानी कोविड के दो सालों के बाद 39,20,789 यात्रियों ने सफर किया। यह फुटफाल महापंचमी से लेकर विजयदशमी तक आगे पढ़ें »

ऊपर