दफ्तर खोलने के लिए कनॉट प्लेस दुनिया की 9वीं सबसे महंगी जगह

नयी दिल्ली: दिल्ली का सबसे व्यसत और राज्य का दिल कहे जाने वाले कनॉट प्लेस में अगर आप भी दफ्तर खोलना चाहते हैं तो आपको आर्थिक रूप से संपन्न होना बहुत जरूरी है। दरअसल, बात यह है कि कनॉट प्लेस कोई दफ्तर खोलने के लिए दुनिया की 9वीं सबसे महंगी जगह बन गई है। संपत्ति सलाहकार कंपनी सीबीआरई के सर्वेक्षण के अनुसार यहां पर कार्यालयी जगह का वार्षिक किराया 144 डॉलर प्रति वर्गफुट तक है। दिल्ली इस सर्वेक्षण में पिछले साल भी 9वें स्थान पर था।

हांगकांग का सेंट्रल डिस्ट्रिक प्रथम स्थान पर

हांगकांग का सेंट्रल डिस्ट्रिक लगातार दूसरे साल इस सर्वेक्षण में शीर्ष स्थान पर रहा है। यहां किसी कार्यालय के लिए एक साल का किराया 322 डॉलर प्रति वर्गफुट है। इस सूची में लंदन का वेस्ट एंड दूसरे स्थान पर, हांगकांग का कोलून तीसरे, न्यूयॉर्क का मिडटाउन मैनहैटन चौथे और बीजिंग का फाइनेंस स्ट्रीट पांचवे स्थान पर है।

भारत के यह स्थान 27वें और 40वें स्थान पर

मुंबई का बांद्रा कुर्ला परिसर और नरीमन पॉइंट इस सूची में क्रमश: 27वें और 40वें स्थान पर हैं। यहां पर किराये की लागत क्रमश: 90.67 डॉलर प्रति वर्गफुट और 68.38 डॉलर प्रति वर्गफुट वार्षिक है। ब्रांदा कुर्ला परिसर पिछले साल इस सूची में 26वें स्थान पर था।

वैश्विक कंपनियां करना चाहती है निवेश

सीबीआरई के चेयरमैन एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी (भारत, दक्षिण पूर्व एशिया, पश्चिमी एशिया और अफ्रीका) अंशुमन मैगजीन ने कहा कि कार्यालयी जगहों पर भारतीय बाजार के कई शहरों में बढ़िया निवेश जारी है। वैश्विक कंपनियां इन शहरों में अपने कार्यालय खोलने के लिए इन शहरों में निवेश करने के पक्ष में हैं।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

PM Modi meets Abhijit Banerjee

नोबेल विजेता बनर्जी से मिले मोदी,मानवता को सशक्त बनाने का प्रयास सराहनीय

नई दिल्ली : अर्थशास्त्र में नोबेल जीतने वाले भारतीय अर्थशास्त्री अभिजीत बनर्जी ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मुलाकात की, पीएम मोदी ने बताया आगे पढ़ें »

madhav

राम माधव ने अमेरिका को दी नसीहत, कहा- भारत कोई डंपिंग बाजार नहीं

नई दिल्ली : भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के महासचिव राम माधव ने सोमवार को अमेरिका की पूर्व विदेश मंत्री कोंडोलिजा राइस के दिए गए बयान आगे पढ़ें »

ऊपर