दफ्तर खोलने के लिए कनॉट प्लेस दुनिया की 9वीं सबसे महंगी जगह

नयी दिल्ली: दिल्ली का सबसे व्यसत और राज्य का दिल कहे जाने वाले कनॉट प्लेस में अगर आप भी दफ्तर खोलना चाहते हैं तो आपको आर्थिक रूप से संपन्न होना बहुत जरूरी है। दरअसल, बात यह है कि कनॉट प्लेस कोई दफ्तर खोलने के लिए दुनिया की 9वीं सबसे महंगी जगह बन गई है। संपत्ति सलाहकार कंपनी सीबीआरई के सर्वेक्षण के अनुसार यहां पर कार्यालयी जगह का वार्षिक किराया 144 डॉलर प्रति वर्गफुट तक है। दिल्ली इस सर्वेक्षण में पिछले साल भी 9वें स्थान पर था।

हांगकांग का सेंट्रल डिस्ट्रिक प्रथम स्थान पर

हांगकांग का सेंट्रल डिस्ट्रिक लगातार दूसरे साल इस सर्वेक्षण में शीर्ष स्थान पर रहा है। यहां किसी कार्यालय के लिए एक साल का किराया 322 डॉलर प्रति वर्गफुट है। इस सूची में लंदन का वेस्ट एंड दूसरे स्थान पर, हांगकांग का कोलून तीसरे, न्यूयॉर्क का मिडटाउन मैनहैटन चौथे और बीजिंग का फाइनेंस स्ट्रीट पांचवे स्थान पर है।

भारत के यह स्थान 27वें और 40वें स्थान पर

मुंबई का बांद्रा कुर्ला परिसर और नरीमन पॉइंट इस सूची में क्रमश: 27वें और 40वें स्थान पर हैं। यहां पर किराये की लागत क्रमश: 90.67 डॉलर प्रति वर्गफुट और 68.38 डॉलर प्रति वर्गफुट वार्षिक है। ब्रांदा कुर्ला परिसर पिछले साल इस सूची में 26वें स्थान पर था।

वैश्विक कंपनियां करना चाहती है निवेश

सीबीआरई के चेयरमैन एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी (भारत, दक्षिण पूर्व एशिया, पश्चिमी एशिया और अफ्रीका) अंशुमन मैगजीन ने कहा कि कार्यालयी जगहों पर भारतीय बाजार के कई शहरों में बढ़िया निवेश जारी है। वैश्विक कंपनियां इन शहरों में अपने कार्यालय खोलने के लिए इन शहरों में निवेश करने के पक्ष में हैं।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

dhanoa

अभिनंदन के पास राफेल होता तो स्थिति अलग होती: पूर्व वायुसेना प्रमुख

नई दिल्ली : पंजाब सरकार की तरफ से चंडीगढ़ में आयोजित मिलिट्री लिटरेचर फेस्टिवल में शनिवार को ‘अंडरस्टैंडिंग द मैसेज ऑफ बालाकोट’ कार्यक्रम में पूर्व आगे पढ़ें »

assam

नागरिकता कानून : असम में अबतक 6 लोगों की मौत, बंगाल में उग्र प्रदर्शन जारी

गुवाहाटी : नागरिकता संशोधन कानून विरोध में प्रदर्शनों के चलते हिंसा की चपेट में आए असम में रविवार को तीसरे दिन भी कर्फ्यू में ढील आगे पढ़ें »

ऊपर