‘तो भागवत को भी आतंकी बता देगी मोदी सरकार…’

नई दिल्ली: कृषि कानूनों पर चल रहे किसान आंदोलन के समर्थन में मार्च निकालने और राष्ट्रपति से मुलाकात करने की कांग्रेस की कोशिशों के दौरान गुरुवार को प्रियंका गांधी सहित कई पार्टी नेताओं को हिरासत में ले लिया गया। राहुल गांधी ने इस मौके पर केंद्र की मोदी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि ‘भारत में अब लोकतंत्र नहीं रह गया है, अगर आपको लगता है कि यह है, तो यह अब बस आपकी कल्पनाओं में रह गया है।’ राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि ‘भारत में अब लोकतंत्र नहीं रह गया और जो लोग भी प्रधानमंत्री के खिलाफ खड़े होंगे, उन्हें आतंकवादी बता दिया जाएगा, चाहे वो संघ प्रमुख मोहन भागवत ही क्यों न हों।’ कांग्रेस नेता ने कहा, ‘पीएम मोदी बस क्रोनी पूंजीपतियों के लिए पैसे बना रहे हैं। जो भी उनके खिलाफ खड़े होने की कोशिश करेगा, उसे आंतकी बोल दिया जाएगा- चाहे वो किसान हों, मजदूर हों या फिर मोहन भागवत ही क्यों न हों।’
राष्ट्रपति भवन तक मार्च निकाल रहे थे

राहुल गांधी किसानों के आंदोलन के समर्थन में कांग्रेस नेताओं के साथ विजय चौक से राष्ट्रपति भवन तक मार्च निकाल रहे थे। इस दौरान पहले उनके मार्च को पुलिस ने रोक दिया था, फिर प्रियंका गांधी सहित पार्टी के कई नेताओं को हिरासत में ले लिया गया था। हालांकि, राहुल को कुछ नेताओं के साथ राष्ट्रपति से मिलने जाने दिया गया।

किसान ही देश की रीढ़ हैं

राहुल ने मीडिया के सामने कहा कि ‘करोड़ों लोग हैं जो कृषि से जुड़े हुए हैं और यही लोग देश की रीढ़ हैं। हम मानते हैं कि कृषि क्षेत्र में सुधार होना चाहिए, लेकिन अगर कृषि को तबाह कर दिया जाएगा तो करोड़ों लोगों को बहुत पीड़ा का सामना करना पड़ेगा, इन कृषि कानूनों से किसानों को जबरदस्त नुकसान होगा, इन्हें बस चार-पांच उद्योगपतियों को फायदा पहुंचाने के लिए बनाया गया है। इस देश के युवाओं और लोगों को पता होना चाहिए कि पीएम एक अक्षम व्यक्ति हैं, जिन्हें कुछ पता नहीं है और वो जो तीन-चार लोगों की तरफ से इस व्यवस्था को चला रहे हैं।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

चुनाव में 60 से 80 सीटों पर लड़ सकती है सिद्दकी की नयी पार्टी

फुरफरा शरीफ के पीरजादा बनाएंगे मुस्लिम, दलितों और आदिवासियों की पार्टी 21 को होगा नाम का ऐलान सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में अप्रैल-मई में विधानसभा चुनाव होने आगे पढ़ें »

सन्मार्ग वाद-संवाद ः पूर्वी भारत का सबसे बड़ा बौद्धिक मंथन आज

कोलकाता ः पूर्वी भारत के सबसे बड़े हिन्दी बौद्धिक मंथन 'सन्मार्ग वाद संवाद-2021' का आयोजन आज शनिवार यानी 16 जनवरी की शाम बीआरसी लॉन्स में आगे पढ़ें »

ऊपर