डब्ल्यूएचओ के कार्यकारी बोर्ड के अध्यक्ष बने डॉ. हर्षवर्द्धन

नयी दिल्ली : केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्द्धन शुक्रवार को विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के कार्यकारी बोर्ड के वर्ष 2020-21 के लिए अध्यक्ष बन गये। कार्यकारी बोर्ड के 147वें सत्र की एक वर्चुअल बैठक में उन्हें निर्वाचित किया गया। वह जापान के हीरोकि नाकातानी का स्थान लेंगे। डॉ. हर्षवर्द्धन ने कहा कि यह भारत और हर देशवासी के लिए गौरव का विषय है। डॉ. हर्षवर्द्धन ने कोविड-19 पर भारत के अनुभवों को भी साझा करते हुए कहा कि भारत की मृत्यु दर केवल 3 प्रतिशत है और 135 करोड़ की आबादी वाले देश में मात्र एक लाख मामले हैं। हमारे रोगियों की स्वस्थ होने की दर 40 प्रतिशत से अधिक है और मामले दोगुना होने की दर 13 दिन है।उन्होंने कोविड-19 को एक बड़ी माननीय त्रासदी मानते हुए कहा कि अगले दो दशकों में कई चुनौतियां आ सकती हैं और इनसे निपटने के लिए साझी कार्रवाई की आवश्यकता होगी क्योंकि इनके पीछे साझा खतरा है। वैश्विक संसाधनों का पूल बनाकर एक-दूसरे का पूरक बनने के लिए मिलकर सहयोग करने, रोगों के कारण होने वाली मौतों में कमी लाने का एक अधिक प्रभावशाली और आक्रामक खाका तैयार करने से रोगों का उन्मूलन किया जा सकता है। दवाओं व वैक्सीन की वैश्विक कमी के समाधान व सुधारों की जरूरत पूरी करने के लिए एक नया खाका बनाने की आवश्यकता है। डॉ.हर्षवर्द्धन ने कहा कि कोरोना जैसी महामारी ने स्वास्थ्य सेवाओं की व्यवस्था की मजबूती और तैयारियों की अनदेखी से होने वाले परिणामों से पूरी तरह अवगत करा दिया है। वैश्विक संकट के ऐसे समय में जोखिम प्रबंधन और जोखिम में कमी लाने दोनों स्थितियों के लिए जनस्वास्थ्य के हितों को पुन: ऊर्जावान बनाने और निवेश करने के लिए वैश्विक भागीदारी को और मजबूत बनाने की आवश्यकता होगी।
दो संस्थाओं से संचालन
डब्ल्यूएचओ का शासन-प्रशासन द वर्ल्ड हेल्थ असेंबली और एग्जिक्युटिव बोर्ड से संचालित होता है। बोर्ड में 34 सदस्य होते हैं। ये स्वास्थ्य क्षेत्र के जानकार होते हैं। सदस्यों को तीन साल के लिए निर्वाचित किया जाता है। हेल्थ असेंबली डब्ल्यूएचओ के सारे फैसले लेती है और संयुक्त राष्ट्र के सभी 194 देश इसके सदस्य होते हैं। एग्जिक्युटिव बोर्ड का मुख्य काम हेल्थ असेंबली के फैसलों को लागू करना और उसे सलाह देना है। ये हैं छह क्षेत्रीय ब्लॉकडब्ल्यूएचओ ने सदस्य देशों को छह क्षेत्रीय समूहों में बांट रखा है- अफ्रीकी क्षेत्र, अमेरिकी क्षेत्र, दक्षिण एशियाई क्षेत्र, यूरोपीय क्षेत्र, पूर्वी भूमध्यसागरीय क्षेत्र और पश्चिमी प्रशांत सागरीय क्षेत्र। इन क्षेत्रों के प्रतिनिधि एक-एक वर्ष के लिए एग्जिक्युटिव बोर्ड के चेयरमैन का पद संभालते हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

तमिलनाडु : आईटी सेज डेवलपर के यहां आयकर छापा, 450 करोड़ की अघोषित आय का पता चला

नयी दिल्ली: आयकर विभाग ने तमिलनाडु में एक आईटी सेज डेवलपर, उसके पूर्व निदेशक तथा स्टेनलेस स्टील आपूर्तिकर्ता पर छापेमारी में 450 करोड़ रुपये की आगे पढ़ें »

शाह ने हैदराबाद नगर निगम के चुनाव प्रचार के दौरान रोड शो किया

कहा-इस बार हैदराबाद का मेयर भाजपा से होगा हैदराबाद : केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को ऐतिहासिक चारमीनार के समीप स्थित भाग्यलक्ष्मी मंदिर में आगे पढ़ें »

ऊपर