जेएनयू मामले में कार्रवाई करेगा केंद्रः निशंक

jnu

नई दिल्लीः मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने राज्यसभा में कहा कि केन्द्र उन लोगों के खिलाफ कठोर कार्रवाई करेगा जो जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के मूलभूत चरित्र को बदलने का प्रयास करेंगे। निशंक ने यह बात प्रश्नकाल में एक पूरक प्रश्न के जवाब में कही। उन्होंने कहा कि जेएनयू की परिकल्पना शोध के लिए की गयी थी। उन्होंने कहा कि जूएनयू का मूल चरित्र जो पहले हुआ करता था, उसे बरकरार रखा जाएगा। उन्होंने कहा, ‘‘जो लोग विश्वविद्यालय का चरित्र बदलने का प्रयास करेंगे, हम उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई करेंगे। सरकार उससे नहीं झिझकेगी।’’ मानव संसाधन विकास मंत्री से पूरक प्रश्न पूछा गया था कि जेएनयू परिसर में फीस वृद्धि को देखते हुए क्या वह वर्तमान कुलपति को बदलेंगे।
जेएनयू में डेप्रिवेशन अंक हटाने के संदर्भ में उन्होंने कहा कि 2016 में शोध डिग्री पाठक्रमों में ग्रामीण क्षेत्रों के विद्यार्थी की संख्या 48.3 प्रतिशत थी जो 2019 में बढ़कर 51.42 प्रतिशत हो गयी। उन्होंने इस बात को गलत बताया कि डेप्रिवेशन अंक हटाये जाने के बाद पिछड़े क्षेत्रों से आने वाले छात्रों की संख्या जेएनयू में घटी है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

लॉकडाउन समाप्ति के बाद सोना तस्करी का मुख्य केन्द्र बनता जा रहा है सिलीगुड़ी

6 महीने में 50 करोड़ की कीमत का 115 किलो सोना पकड़ा डीआरआई ने सिलीगुड़ी आने के बाद भी कई राज्यों से होकर भेजा जा रहा आगे पढ़ें »

rajnath

आज बालुरघाट में राजनाथ सिंह

कोलकाता : आज यानी मंगलवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह बालुरघाट में आयेंगे जहां वह भाजपा की सभा को संबोधित करने वाले हैं। इस बारे आगे पढ़ें »

ऊपर