जानिए इस बार कितने लोग घर पर और कितने बाहर मनाएंगे न्यू ईयर 2021 का जश्न

नई दिल्ली: साल 2020 विदा होने को है, 2021 बस कुछ ही घंटों में हम सबकी जिंदगी में दस्तक देने वाला है। ऐसे में सभी नए साल का बड़ी बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं लेकिन इस बार कोरोना वायरस महामारी के बीच ज्यादातर लोगों ने नया साल घर पर बैठकर ही मनाने का फैसला किया है। कोरोना वायरस के कारण भारी उठापटक वाले 2020 को विदाई और 2021 का स्वागत ज्यादातर लोग अपने घर पर बैठकर ही करेंगे। एक सर्वेक्षण के अनुसार 65 फीसदी लोगों का कहना है कि वे 31 दिसंबर को नए साल का स्वागत करने के लिए खाने-पीने का सामान ऑनलाइन ऑर्डर करेंगे। इसके अलावा शराब का भी घर पर ही इंतजाम करेंगे। सर्वेक्षण में शामिल 50 फीसदी लोगों ने कहा कि वे कहीं बाहर नहीं जाएंगे और नया साल घर पर ही मनाएंगे। सर्वेक्षण में शामिल सिर्फ 10 फीसदी लोगों ने कहा कि वे नए साल के लिए होटल या रेस्तरां जाने की योजना बना रहे हैं। वहीं 15 फीसदी लोगों ने पहाड़ या समुद्र तट पर जाकर 2020 को विदाई देने का मन बनाया है।

सर्वेक्षण में 4,500 लोगों की राय को शामिल किया गया

अखिल भारतीय स्तर पर यह सर्वेक्षण आतिथ्य क्षेत्र की सलाहकार अविघ्न सॉल्यूशंस ने किया है। 1 दिसंबर से 21 दिसंबर के दौरान किए गए सर्वे में 4,500 लोगों की राय को शामिल किया गया है। गुरुग्राम की सलाहकार कंपनी के संस्थापक मयंक शेखर ने कहा कि यह सर्वेक्षण खुले स्रोत के आंकड़ों और ऑनलाइन प्रतिक्रिया के आधार पर तैयार किया गया है। सर्वेक्षण में कहा गया है कि महामारी की वजह से भीड़ जमा करने पर रोक से दिल्ली-एनसीआर को एक रात में ही 200 से 250 करोड़ रुपये का नुकसान होगा।

15 फीसदी लोग पहाड़ी इलाकों पर मनाना चाहते हैं जश्न

सर्वेक्षण में कहा गया है, ‘‘लोग अनजाने लोगों के बीच भीड़ वाली जगह पर जाने से हिचकिचा रहे हैं। सर्वेक्षण में शामिल 48 फीसदी लोगों ने कहा कि वे अपने परिवार और दोस्तों के साथ नया साल घर पर ही मनाना पसंद करेंगे। हालांकि, 10 फीसदी लोगों ने कहा कि वे किसी रेस्तरां या होटल में जाकर नए साल का स्वागत करना चाहेंगे।’’ सर्वेक्षण में 65 फीसदी से अधिक लोगों ने कहा कि वे खाने-पीन का सामान ऑनलाइन ऑर्डर करेंगे और शराब का भी इंतजाम रखेंगे।

बीच पर मनाएंगे नया साल

वहीं 15 फीसदी लोगों का कहना था कि वे किसी पहाड़ी इलाके या समुद्र के किनारे (बीच) पर जाकर नया साल मनाएंगे। सर्वेक्षण में शामिल 66 फीसदी से अधिक लोगों ने कहा कि उनकी योजना नए साल पर शराब पीने की है। वहीं, 56 फीसदी ने कहा कि वे ऑनलाइन उत्तर भारतीय खाने का ऑर्डर देंगे। 23 फीसदी ने कहा कि वे नए साल का स्वागत ‘बिरयानी’ से करना चाहेंगे।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

कोरोना संक्रमण से एक और डॉक्टर की मौत

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः कोरोना वायरस के संक्रमण के मामले काफी कम होते जा रहे हैं। राज्य में वैक्सीनेशन प्रक्रिया भी चल रही है। हालांकि इसके बाद आगे पढ़ें »

tmc

तृणमूल पार्टी ऑफिस में तोड़फोड़ एवं झंडा जलाने का आरोप

बीजपुरः नैहाटी विधानसभा के माझीपाड़ा-पलासी ग्राम पंचायत अंतर्गत धरमपुर स्थित तृणमूल पार्टी आफिस में तोड़फोड़ एवं राष्ट्रीय झंडा समेत तृणमूल का झंडा जलाने को लेकर आगे पढ़ें »

ऊपर