जरूरी सेवाएं न रोकी जाएं, अगर रोका तो होगी सख्त कार्रवाई : ममता

पैनिक हो सामान न खरीदें, खुली रहेंगी दुकानें
सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : काेरोना वायरस के कारण उत्पन्न परिस्थितियों को देखते हुए पूरे देश में लॉकडाउन जारी है। इस दौरान जरूरी सेवाओं में बाधा नहीं पहुंचे इसके लिए सीएम ममता बनर्जी ने पुलिस प्रशासन को निर्देश दिये हैं। दरअसल, ऐसी शिकायतें मिली थी कि प्रशासन का एक वर्ग जरूरी सेवाओं में शामिल लोगों के साथ कड़ा बर्ताव कर रहा है।
होम डिलीवरी सेवाओं के लिए कार्यरत लोगों को पास जारी करेंगे
बुधवार को सीएम ने कहा कि जरूरी सेवाएं किसी हाल में नहीं राेकी जाएं। खाद्य पदार्थों, सब्जी विक्रेताओं और अन्य आवश्यक सेवाओं की डिलीवरी के लिए पुलिस द्वारा नहीं रोका जाना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि खेतों में काम करने वाले किसान आमतौर पर एक-दूसरे के बीच दूरी बनाए रखते हैं और ऐसा कोई कारण नहीं है कि उन्हें काम करने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए। यदि आवश्यक हो, तो होम डिलीवरी सेवाओं के लिए कार्यरत लोगों को पास जारी करेंगे।
ममता का कठोर निर्णय
उन्होंने कहा कि अगर पुलिसकर्मी आवश्यक सेवाओं में काम करने वाले लोगों को रोकते पाए गए तो उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जायेगी। मुख्यमंत्री ने कहा, सामाजिक भेद का मतलब सामाजिक अलगाव नहीं है। उसने डॉक्टरों, नर्सों और स्वास्थ्य कर्मियों को अपने पड़ोसियों द्वारा परेशान किए जाने पर कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी। नवान्न में सीएम ने कहा कि होम गार्ड और सिविक वॉलंटियर्स के भरोसे इन कामों को नहीं छोड़ें। आईसी लेकर डीएम, एसपी, बीडीओ, एसडीओ खुद निगरानी करें। इसके लिए उन्होंने एक पास भी जारी करने के लिए कहा है। पूरे राज्य में एक तरह का ही पास जारी किया जाएगा उसकी अनुमति सभी थाने क्षेत्रों में होगी। राज्य की पूरी स्थिति पर टास्क फोर्स की नजरइसके साथ ही पूरी स्थिति पर नजर रखने के लिए स्टेट टास्क फोर्स का गठन किया गया है। सीएम खुद और मुख्य सचिव राजीव सिन्हा सहित अन्य अधिकारी नजर बनाये हुए हैं।

पेंशन से लेकर राशन तक की राहत देगी सरकार

सीएम ममता बनर्जी ने कहा कि सरकार की तरफ से दो महीने की सामाजिक पेंशन (विधवा भत्ता, जय बांग्ला प्रकल्प सहित कई योजनाओं से जुड़े लोग) एक साथ देने के बारे में विचार किया जा रहा है। पहले से मिड डे मील में चावल, लोगों को 5 किलों मुफ्त राशन तक की व्यवस्था की गयी है।
स्वास्थ्य कर्मियों के लिए विशेष व्यवस्था
विभिन्न सरकारी अस्पतालों के स्वास्थ्य कर्मियों के लिए रहने से लेकर उनके खाने पीने की व्यवस्था की गयी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अस्पताल के आसपास होटल, शादी बाड़ी में रहने की व्यवस्था की जा रही है। अस्पताल में कार्यरत बेसरकारी संस्था के कर्मियों लिए भी खाने पीने की व्यवस्था करने के लिए कहा गया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सन्मार्ग एक्सक्लूसिव :आर्थिक पैकेज से हर वर्ग को राहत, न अन्न की कमी, न धन की : ठाकुर

 विशेष संवाददाता, कोलकाता : कोविड-19 संकट के आघात से देश और देश की अर्थव्यवस्था को उबारने के लिए केंद्र सरकार हरसंभव कोशिश कर रही है। आगे पढ़ें »

कोरोना ने अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम को ​लिया अपने शिकंजे में, हुआ संक्रमित

नयी दिल्ली : देशभर में महामारी का रूप धारण कर चुके कोरोना वायरस संक्रमण से शुक्रवार को मशहूर अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के कोरोना वायरस आगे पढ़ें »

भारत के साथ सीमा विवाद को उचित ढंग से सुलझाने के लिए प्रतिबद्ध : चीन

फायदेमंद है संतुलित मात्रा में कार्बोहाइड्रेट का सेवन, अत्यधिक मात्रा पहुंचा सकता है नुकसान

भाजपा नेत्री सोनाली फोगाट ने मार्केट कमेटी के कर्मचारी को चप्पलों से पीटा

javdekar

भारत जलवायु प्रतिबद्धताओं पर खरे उतरने वाले देशों में शामिल है: प्रकाश जावडेकर

मरकज मामले में सीबीआई जांच की जरूरत नहीं: केंद्र

trump

प्रदर्शनकारियों पर हमले के मामले में ट्रंप पर मुकदमा

लॉकडाउन के दौरान इंस्टाग्राम से कमाई करने वाले खिलाड़ियों की सूची में कोहली एकमात्र क्रिकेटर

केंद्र और राज्यों को प्रवासियों को उनके घर पहुंचाने के लिए 15 दिन और : सुप्रीम कोर्ट

गर्मियों में तरबूज खाने के हैं कई फायदें और नुकसान, पढ़ें

ऊपर