जम्मू कश्मीर में पुलवामा जैसा हमला टला, 52 किलोग्राम विस्फोटक बरामद

kashmir

नई दिल्ली: भारतीय सेना ने कश्मीर में गादिकल के कारेवा इलाके में गुरुवार को 52 किलोग्राम विस्फोटक सामग्री बरामद कर पुलवामा जैसा हमला टाल दिया। सेना के अधिकारियों ने बताया कि जहां से विस्फोटक बरामद किया गया है वह स्थान जम्मू कश्मीर राजमार्ग के निकट है और पुलवामा के उस हमले वाले स्थान से करीब नौ किलोमीटर दूर है जहां पिछले वर्ष हुए आतंकवादी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। सेना के एक अधिकारी ने कहा, ‘हमने पुलवामा जैसा एक और हमला टाल दिया है।’

अधिकारियों ने बताया कि एक तलाशी अभियान के दौरान सुबह करीब आठ बजे गादिकल के कारेवा स्थित एक सिन्टैक्स पानी की टंकी से विस्फोटक बरामद किए गए। ‘विस्फोटकों के 416 पैकेट बरामद किए गए जिनमें से हरेक का वजन 125 ग्राम था। इसके बाद इलाके में तलाशी अभियान के दौरान एक अन्य पानी की टंकी से 50 डेटोनेटर बरामद किया गया’, अधिकारी ने कहा। । इन विस्फोटकों को ‘सुपर-90’ या ‘एस-90’ के नाम से जाना जाता है।

गत वर्ष 40 जवान हुए थे शहीद
गत वर्ष 14 फरवरी को एक आत्मघाती हमलावर ने पुलवामा में विस्फोटकों से भरी अपनी कार सीआरपीएफ के एक काफिले से टकरा दी थी जिसमें 40 जवान शहीद हो गए थे। यह हाल के वर्षों में हुए भीषणतम हमलों में से एक था। पाकिस्तानी आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने उस हमले की जिम्मेदारी ली थी। उस हमले के 12 दिन बाद भारत के लड़ाकू विमानों ने पाकिस्तान के भीतर जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी प्रशिक्षण शिविर पर हमला किया था जिससे दोनों देशों के बीच तनाव काफी बढ़ गया था।
पिछले महीने एनआईए ने मामले में आरोपपत्र दाखिल किया था जिसमें इसकी विस्तार से जानकारी दी गई थी कि कैसे जैश-ए-मोहम्मद ने हमले का षडंत्र रचा था और उसे अंजाम दिया था। एनआईए के आरोपपत्र में मसूद अजहर, उसके भाई अब्दुल रऊफ असगर और कई अन्य के नाम शामिल थे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राजस्थान ने पंजाब को 7 विकेट से हराया, राजस्थान अब भी प्ले ऑफ की रेस में

अबुधाबी : बेन स्टोक्स की अगुआई में शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों के उम्दा प्रदर्शन की बदौलत राजस्थान रॉयल्स ने इंडियन प्रीमियर लीग में शुक्रवार को आगे पढ़ें »

1000 छक्के उड़ाने वाले दुनिया के पहले क्रिकेटर बने गेल

अबु धाबी : राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ शतक से चूक गए अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी के कारण दुनियाभर की टी20 लीग में अपना विशिष्ट स्थान रखने आगे पढ़ें »

ऊपर