जम्मू-कश्मीर: फारूक-महबूबा गठबंधन को लीड, 80 सीटों पर आगे, 2 जीतीं

श्रीनगरः जम्मू-कश्मीर में जिला विकास परिषद (डीडीसी) चुनाव की 280 सीटों के लिए काउंटिंग जारी है। ताजा जानकारी के मुताबिक, पीपुल्स अलायंस फॉर गुपकार डिक्लरेशन (पीएजीडी) दो सीट जीत चुका है और उसे 80 सीटों पर बढ़त हासिल है। भाजपा 48 सीटों पर आगे हैं। कांग्रेस ने भी अच्छा प्रदर्शन किया है। वो एक सीट जीत चुकी है जबकि 18 पर उसे बढ़त हासिल है। अपनी पार्टी भी एक सीट पर कब्जा कर चुकी है, उसे चार सीटों पर बढ़त हासिल है। अन्य 38 सीटों पर आगे चल रहे हैं या फिर इन्हें जीत चुके हैं।

पहली बार हुए चुनाव

आर्टिकल 370 हटने के बाद यहां पहली बार हुए चुनाव हुए। गुपकार अलायंस के तहत 6 पार्टियों ने मिलकर चुनाव लड़ा था। जम्मू-कश्मीर में डीडीसी की 280, वार्ड की 234 और पंच-सरपंच की 12,153 सीटों के लिए 8 फेज में चुनाव हुए थे। इनमें 51% वोटिंग हुई थी। 28 नवंबर को पहले फेज की वोटिंग हुई थी, जबकि 19 दिसंबर को 8वें और आखिरी फेज की वोटिंग हुई थी।

किस फेज में कितने वोट पड़े थे?

पहला फेज : 51.79%
दूसरा फेज: 48.62%
तीसरा फेज: 50.53%
चौथा फेज: 50.08%
पांचवां फेज: 51.20%
छठा फेज: 51.51%
सातवां फेज: 57.22%
आठवां फेज: 51.5%

6 प्रमुख पार्टियों ने साथ मिलकर चुनाव लड़ा
जम्मू-कश्मीर के इतिहास में यह पहली बार है, जब 6 प्रमुख पार्टियों ने साथ मिलकर चुनाव लड़ा। आर्टिकल 370 हटने के बाद इन पार्टियों ने मिलकर गुपकार अलायंस बनाया है। इसमें डॉ. फारूक अब्दुल्ला की अध्यक्षता वाली नेशनल कॉन्फ्रेंस, महबूबा मुफ्ती की अगुवाई वाली पीडीपी के अलावा सज्जाद गनी लोन की पीपुल्स कॉन्फ्रेंस, अवामी नेशनल कॉन्फ्रेंस, जम्मू-कश्मीर पीपुल्स मूवमेंट और माकपा की स्थानीय इकाई शामिल है। वहीं, भाजपा और कांग्रेस ने अपने उम्मीदवार उतारे। मौजूदा राजनीतिक समीकरणों के मुताबिक, गुपकार अलायंस कश्मीर में ताकतवर है, जबकि भाजपा की स्थिति जम्मू में काफी मजबूत है।

2018 में हुआ था आखिरी चुनाव
इसके पहले नवंबर-दिसंबर 2018 में पंचायत चुनाव हुआ था। उसमें 33 हजार 592 पंच सीटों पर 22 हजार 214 प्रत्याशी और 4,290 सरपंच पदों पर 3,459 प्रत्याशियों ने जीत दर्ज की थी। बाकी सीटें खाली रह गई थी, जहां अब उपचुनाव हुए हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

टीकाकरण फिर शुरू, ‘कोविन पोर्टल’ में आई तकनीकी परेशानी

स्वास्थ्य विभाग का निर्देशः ताकि वैक्सीन डोज की एक बूंद भी न हो बेकार कोलकाताः पश्चिम बंगाल के 207 स्थलों पर सोमवार को कोविड-19 टीकाकरण अभियान आगे पढ़ें »

नंदीग्राम से ममता के लड़ने की घोषणा पर विपक्ष ने बोला हमला

‘भवानीपुर में हार समझ चुकी हैं, इसलिए नंदीग्राम को चुना’ कोलकाता : अपने विधानसभा केंद्र भवानीपुर में हारेंगी, इस कारण पूर्व मिदनापुर के नंदीग्राम से भी आगे पढ़ें »

ऊपर