चुनाव पर्यवेक्षकों को 9 तक ब्लॉक में पहुंचने का निर्देश

चुनाव पर्यवेक्षकों के साथ चुनाव आयुक्त ने की बैठक
कोलकाता : राज्य चुनाव आयोग के आयुक्त ए.के.सिंह ने शनिवार को चुनाव पर्यवक्षकों के साथ बैठक की। उन्होंने सभी को अपने-अपने ब्लॉक में 9 अप्रैल तक चुनावी ड्यूटी संभालने का निर्देश दिया। साथ ही कहा कि आप सभी ईमानदारी से काम करें। आप अधिकारी ही राज्य चुनाव आयोग की आंख और कान हैं। ऐसे में आपकी कार्यशैली पर सबकुछ निर्भर करेगा। किसी प्रकार की परेशानी होकर तुरंत फोन कर सकते हैं। आयोग के सूत्रों की मानें तो बैठक के दौरान चुनाव आयुक्त ने सभी पर्यवेक्षकों से निष्पक्ष व भयमुक्त होकर काम करने की सलाह दी। आयोग सूत्रों की मानें तो पंचायत चुनाव में केंद्रीय सुरक्षा बल की मांग को लेकर राज्य के गृह सचिव अत्री भट्टाचार्य को उन्होंने पत्र भी लिखा है। चुनाव आयुक्त ने साफ कहा है कि बिना केंद्रीय सुरक्षा बल के शांतिपूर्ण तरीके से पंचायत चुनाव करवाना संभव नहीं है। ऐसे में केंद्रीय सुरक्षा बल को लेकर राज्य सरकार पहल करे। पर्यवेक्षकों के साथ हुई बैठक में राज्य चुनाव आयोग के सचिव निलांजन शांडिल्य, संयुक्त सचिव शांतनु मुखर्जी भी मौजूद थे।
मांगे थे 350 ऑब्जर्वर मिले 166-
आयोग सूत्रों की मानें तो राज्य चुनाव आयोग ने पंचायत चुनाव के लिए करीब 350 ब्लॉक ऑब्जर्वर मांगे थे। हालांकि केवल 166 ऑब्जर्वर ही मिले। हालांकि इस पर आयोग की ओर से कुछ भी कहने से इनकार किया गया है।
एसडीओ कार्यालय के पास 144 धारा लागू-
राज्य चुनाव आयोग के आयुक्त ए.के.सिंह ने शिशिर मंच की बैठक के बाद बाहर निकलते हुए संवाददाताओं से कहा कि विशेष अनुमति के तहत अधिसूचना जारी कर एसडीओ कार्यालय के पास सुरक्षा बढ़ा दी गई है। उल्लेखनीय है कि पहले ही आयोग की ओर से कहा गया था कि जिन जगहों पर डीएम, एसडीओ व एक्जीक्यूटिव मजिस्ट्रेट चाहें 144 धारा लगा सकते हैं। सिंह ने माना क‌ि एसडीओ कार्यालय से दूर कुछ जगहों पर झड़प से जुड़ी खबरें मिल रही हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

किडनी की समस्या का आयुर्वेद में है इलाज, पढ़ें

नई दिल्ली : किडनी शरीर का महत्वपूर्ण अंग है और फिल्टर माना जाता हैं, यह हमारे शरीर में मौजूद टॉक्सिन को बाहर निकालने का काम आगे पढ़ें »

germany

जर्मनी के पूर्व राष्ट्रपति के बेटे की चाकू से की हत्या

बर्लिन : जर्मनी के पूर्व राष्ट्रपति रिचर्ड फोन के बेटे की चाकू घोंपकर हत्या कर दी गयी। बर्लिन शहर में एक अस्पताल में घुसकर हमलावर आगे पढ़ें »

ऊपर