चीन के बाद अब भारत भी 1.5 किमी पीछे हटा : अधिकारी

नयी दिल्ली : भारत-चीन के बढ़ते तनाव के बीच भारत और चीन के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों के बीच हुई बातचीत के बाद गलवान घाटी में संघर्ष वाली जगह से भारतीय सैनिक भी 1.5 किमी पीछे हट गए हैं। अंग्रेजी अखबार ‘द हिंदू’ ने भारत सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी के हवाले से यह रिपोर्ट दी है। उधर, सैन्य सूत्रों ने भी कहा है कि समझौते के तहत दोनों पक्ष विवादित इलाकों से 1 से 1.5 किमी पीछे हटेंगे और जब यह प्रक्रिया पूरी हो जाएगी तो दोनों देशों की सेना आगे की दिशा तय करने के लिए दोबारा बातचीत करेगी। अजीत डोभाल और वांग यी की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से हुई बातचीत के बाद चीन ने अपने सैनिक 1.5 किमी पीछे हटाने शुरू कर दिए हैं।
सैनिकों के बीच होगी 3.5 किमी की दूरी
अधिकारी ने कहा, ’30 जून को कमांडर लेवल की बातचीत में प्रमुख समझौता हुआ कि भारतीय और चीनी सैनिक एक-दूसरे के करीब आंखों में आखें डाले खड़े नहीं होंगे। उनके बीच कम-से-कम 3.5 किमी की दूरी रहेगी।’ उधर, सैन्य सूत्रों ने बताया कि भारत-चीन की सेनाओं ने सोमवार को हॉट स्प्रिंग्स और गोगरा से अपने-अपने सैनिक हटाने शुरू कर दिए। दोनों जगहों से सैनिकों के हटने की प्रक्रिया कुछ दिनों में पूरी हो जाएगी। चीनी सेना ने कल से ही अपने तंबू भी उखाड़ने शुरू कर दिए।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बंगाल में कोरोना वायरस संक्रमण के 2752 नये आये मामले

कोलकाता : वेस्ट बंगाल कोविड-19 हेल्थ बुलेटिन के अनुसार पश्चिम बंगाल में कोरोना वायरस संक्रमण के पिछले 24 घंटे में 2752 नये मामले आये है आगे पढ़ें »

राममंदिर के शिलान्यास के अवसर पर अपने घरों में दीपावाली मनाएं : रावत

देहरादून : उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने पांच अगस्त को अयोध्या में राममंदिर निर्माण हेतु भूमिपूजन के अवसर पर प्रदेश की जनता से आगे पढ़ें »

ऊपर